शिक्षा: छात्रवृत्ति परीक्षा में पिछड़ा अमरावती जिला

February 15th, 2022

डिजिटल डेस्क,अमरावती।  राज्य सरकार द्वारा हर वर्ष आर्थिक ताैर पर पिछड़े विद्यार्थियों के साथ ही अनुसूचित जाति व अनुसूचित जमाति के विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर विकल्प उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से सरकारी छात्रवृत्ति हेतु परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है। किंतु अमरावती जिले में छात्रवृत्ति पानेवाले सभी वर्ग के विद्यार्थियों की संख्या लगातार घट रही है।

 इस वर्ष जिले में केवल 7 हजार 690 विद्यार्थियों को ही छात्रवृत्ति प्राप्त हो सकी है। जबकि इन परीक्षाओं में सहभाग लेनेवाले विद्यार्थियों की संख्या 3 लाख 28 हजार 920 रही थी। लाभार्थी विद्यार्थियों की इस घटती संख्या के पीछे प्रमुख कारण सरकारी स्कूलों में शिक्षा के स्तर की गिरावट को बताया जा रहा है।  जिले में जिन 7 हजार 690 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति योजना का लाभ प्राप्त हुआ है। उनमें से 4 हजार 831 विद्यार्थी शिक्षा के अधिकार कानून के तहत निजी स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हंै। जबकि जिप स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे केवल 2859 रह गई है। न केवल जिप स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति परीक्षा में सफलता का प्रमाण कम हो रहा है। बल्कि जिले भर में छात्रवृत्ति परीक्षा पास करनेवाले विद्यार्थियों की तादाद भी लगातार घट रही है। इस वर्ष जिन विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति परीक्षा में सफलता प्राप्त हुई है। उनमें 2811 अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थी है। जबकि अनुसूचित जमाति के 648 अन्य पिछड़ा वर्ग के 3159 आर्थिक तौर पर पिछड़ा वर्ग के 1 हजार 72 विद्यार्थियों का समावेश है। 

छात्रवृत्ति परीक्षा में सफलता पानेवाले विद्यार्थियों में छात्राओं की सफलता का प्रमाण अधिक रहा है। कुल 7 हजार 690 सफलता प्राप्त विद्यार्थियों में से छात्राओं की संख्या 5 हजार 7 है। जबकि छात्रों की संख्या केवल 2683 बताई गई है। शैक्षणिक वर्ष 2020-21 में छात्रवृत्ति परीक्षा पास करनेवाले विद्यार्थियों की संख्या 11 हजार 283 थी। वहीं 2019-20  में यह संख्या 13 हजार 261 रही थी। जबकि 2018-19 यह परीक्षा पास करनेवाले विद्यार्थियोंं की तादाद 19 हजार 182 बताई गई है। किंतु मौजूदा शैक्षणिक वर्ष में अमरावती जिले का प्रदर्शन छात्रवृत्ति परीक्षाओं में अब तक का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन रहा है। 

वार्षिक 23 हजार रुपए की मिलती है सहायता 
इन परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करनेवाले विद्यार्थियों को राज्य सरकार द्वारा वार्षिक तौर पर 23 हजार राशि उपलब्ध कराई जाती है। जिससे यह विद्यार्थी अपनी पढ़ाई तथा शिक्षा सामग्री व भविष्य में प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारियां करती है।  विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करते हैं  अमरावती जिले में छात्रवृत्ति परीक्षाओं में शामिल होनेवाले विद्यार्थियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है। किंतु कई बार परिणाम एक जैसे नहीं हो सकते। सफलता पानेवाले छात्रों की संख्या घटती और बढ़ती रहती है।  - माधुरी देशमुख, शिक्षाधिकारी, जिप