comScore

लॉकडाउन से बना थकावट और खीज का माहौल: हाईकोर्ट

लॉकडाउन से बना थकावट और खीज का माहौल: हाईकोर्ट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा है कि कोरोना के चलते घोषित लॉकडाउन ने थकावट और खीज का वातावरण बना दिया है। हाईकोर्ट ने  एक आरोपी को जमानत प्रदान करते हुए यह टिप्पणी की है। आरोपी पर तीन पुलिस वालों पर हमला कर भागने का आरोप है। दरअरसल  पेशे से आर्किटेक्ट आरोपी करण नायर (27) 8 मई 2020 को मरीन ड्राइव इलाके में रात के समय घूम रहे थे। जब पुलिस ने नायर से घूमने का कारण पूछा तो आरोपी की तीन पुलिस वालों से कहा सुनी हो गई। इस दौरान नायर ने जब पुलिस वालों से बचने के लिए भागने की कोशिश की तो पुलिस वालों को चोट लग गई। हालांकि बाद में पुलिस ने आरोपी को  दौड़ कर पकड़ लिया। इसके बाद नायर ने हाईकोर्ट में जमानत के लिए आवेदन किया।  

न्यायमूर्ति भारती डागरे के सामने नायर के जमानत आवेदन पर सुनवाई हुई। इस दौरान आरोपी के वकील निरंजन मुन्दरगी ने कहा कि घटना के दिन मेरा मुवक्किल मानसिक रुप से ठीक नहीं था। इसके चलते वह प्रतिबंधित समय में घर से बाहर गया था। वह पेशे से आर्किटेक्ट है। घटना के दिन उसके मुवक्किल के पास चापर जैसा कोई हथियार नहीं था बल्कि उसके पास ऐसे उपकरण थे जो आर्किटेक्ट इस्तेमाल करते हैं।  मामले से जुड़े सभी पक्षों को सुनने के बाद न्यायमूर्ति ने कहा कि नि:संदेह लॉकडाउन के दौरान पुलिस पर कानून व्यवस्था को कायम रखने काफी दबाव है। लेकिन लॉकडाउन ने थकावट व खीज का माहौल बना दिया है। जिसके जाल में आरोपी फंस गया। न्यायमूर्ति ने कहा कि आरोपी युवा है और उसकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है। इसलिए उसे 50 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी जाती है। न्यायमूर्ति ने आरोपी को जरुरत पड़ने पर पुलिस स्टेशन में उपस्थित होने को कहा है।  विविध शासकीय योजना के माध्यम से फलबाग का क्षेत्रफल बढ़ाने पर विशेष जोर देने  किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है, ताकि मौसम के दगा देने पर किसान संभावित संकट से बच सके। 
 
 

कमेंट करें
cL8dE