दैनिक भास्कर हिंदी: अन्ना ने बताए प्रशासनिक अधिकारियों के लिए ये 5 गुण, आएगा परिवर्तन

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, पुणे। वरिष्ठ समाजसेवी अण्णा हजारे ने बुधवार को यहां कहा कि शुद्ध आचार-विचार, निष्कलंक जीवन, त्याग और सहिष्णुता जैसे पांच गुणों के बल पर प्रशासनिक अधिकारी देश में परिवर्तन की लहर ला सकते हैं।

डॉ.विश्विनाथ कराड़ एमआईटी वर्ल्ड पीस यूनिवर्सिटी के एमआइटी स्कूल ऑफ गवर्नमेंट (मिटसॉग) द्वारा गणेश कला क्रीड़ा मंच में यूपीएससी परीक्षा-2016 के टॉपर्स का सम्मान समारोह आयोजित किया गया था। समारोह में टॉपर नंदिनी के. आर. तथा तीसरा स्थान अर्जित करने वाले गोपालकृष्ण रोनांकी को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान अण्णा ने कहा, देश में परिवर्तन लाया जा सकता है, बशर्ते कि प्रशासनिक अधिकारियों की कथनी और करनी एक हो। 70 साल में देश में जो कार्य नहीं हुआ है, उस कार्य को चरित्रवान अधिकारी केवल 10 साल में कर सकते हैं। 

पैसों को ज्यादा अहमियत देने की बजाय लक्ष्य निर्धारित किया जाए। कार्यक्रम में एमआइटी शिक्षा संस्था समूह के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. डॉ. विश्वनाथ कराड़, उपाध्यक्ष प्रा.राहुल कराड़, केंद्रीय लोकसेवा आयोग के (यूपीएससी) पूर्व चेयरमन डी. पी. अगरवाल, पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन.गोपालास्वामी उपस्थित थे।