दैनिक भास्कर हिंदी: एंटीलिया केस : एनआईए को सौंपी गई मनसुख मौत मामले की भी जांच 

March 20th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उद्योगपति मुकेश अंबानी धमकी मामले को लेकर चर्चा में आए ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरन की मौत की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दी गई है। मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के बाहर विस्फोटकों से भरा वाहन पाए जाने के कुछ दिनों बाद हिरन का शव खाडी के किनारे पाया गया था। 

अंबानी के आवास ‘एंटीलिया’ के बाहर विस्फोटकों से भरी स्कॉर्पियो की बरामदगी से जुड़े मामले की जांच एनआईए कर रही है और उसने सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे को इस सिलसिले में गिरफ्तार किया है। वह स्कार्पियो कार जिसमें जिलेटिन की छड़े रखी गई थी, वह हिरन  थी। एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय ने मनसुख हिरन की मौत की जांच एनआईए को सौंपी है। महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) अभी तक मामले की जांच कर रहा था। हिरेन पांच मार्च को मुंबई के पास एक खाडी के किनारे मृत पाए गए थे। उनकी पत्नी ने अपने पति की संदिग्ध तरीके से हुई मौत में वाझे के संलिप्त होने के आरोप लगाए हैं।

वाझे को लेकर सीन रिक्रिएट करने पहुंची एनआईए
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को उद्योगपति मुकेश अम्बानी के आवास के निकट उस स्थल पर लेकर गई, जहां पिछले महीने विस्फोटकों से भरी एक कार मिली थी। एनआईए ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले को रिक्रिएट किया। एक अधिकारी ने बताया कि वाझे को शुक्रवार रात ले जाया गया और उससे सफेद कुर्ता पहनकर कुछ देर वहां टहलने को कहा गया। अधिकारियों ने पहले बताया था कि एनआईए को शक है कि घटनास्थल कार्माइकल रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में सफेद कुर्ता पहने जो व्यक्ति दिखाई दे रहा है, वह वाझे है, लेकिन अभी इस बात की पुष्ट नहीं हुई है।

अधिकारी ने कहा-कई एनआईए अधिकारी शुक्रवार रात उस स्थल पर पहुंचे, जहां अंबानी के घर के पास एसयूवी मिली थी। सड़क पर कुछ समय के लिए अवरोधक लगाए गए और जांच के तहत घटनाक्रम को नाटकीय रूप से दोहराया गया।’’ उन्होंने बताया कि वाझे और जांचकर्ता 30 मिनट से अधिक समय तक घटनास्थल पर मौजूद रहे। अधिकारी ने कहा, ‘‘इस दौरान निलंबित पुलिस निरीक्षक वाझे को कुछ देर के लिए सफेद कुर्ता पहनकर चलने को कहा गया।’’ अधिकारी ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया का वीडियो बनाया गया और घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस को भी तैनात किया गया था। अम्बानी के घर के निकट एक स्कॉर्पियो कार 25 फरवरी को खड़ी मिली थी जिसमें जिलेटिन की छड़ें थीं और धमकी भरा एक पत्र भी था।