दैनिक भास्कर हिंदी: एंटीलिया केस : शिवसेना ने किया वझे का बचाव, कहा- यह महाराष्ट्र पुलिस का अपमान

March 15th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उद्योगपति मुकेश अंबानी धमकी प्रकरण में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा गिरफ्तार निलंबित पुलिस अफसर सचिन वझे का सत्ताधारी शिवसेना ने बचाव किया है। शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र सामना में कहा है कि एनआईए ने वाझे को गिरफ्तार कर महाराष्ट्र पुलिस का अपमान किया है। पार्टी ने कहा कि वाझे की गिरफ्तारी का जश्न मनाने वाले राज्य की स्वायत्ता पर आघात कर रहे हैं।  

 शिवसेना ने कहा कि महाराष्ट्र के पुलिस दल की क्षमता और शौर्य की प्रशंसा पूरे विश्व भर में होती है। लेकिन अंबानी के घर के पास गाड़ी में 20 जिलेटिन की छड़े मिलने के मामले की जांच के लिए एनआईए का मुंबई में आना आश्चर्यजनक है। एनआईए का आना मतलब पिछला हिसाब चुकता करना है। क्योंकि वाझे और उनके सहयोगियों ने टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार किया था। उन्हीं अफसरों ने गोस्वामी के टीआरपी घोटाले को उजागर किया था। इसके बदले केंद्र सरकार ने वाझे को गिरफ्तार करके दिखाया है। उम्मीद है कि इस मामले में सत्य जल्द ही सामने आएगा।

पार्टी ने कहा कि वाझे की कोई गलती हुई होगी तो उनके खिलाफ नियमों के अनुसार कार्रवाई करने के लिए मुंबई पुलिस और आतंकवाद विरोधी दस्ता (एटीएस) सक्षम थी पर एनआईए को यह नहीं होने देना था। वाझे की गिरफ्तारी कानूनी अथवा गैर कानूनी है। इस पर चर्चा का कोई अर्थ नहीं है क्योंकि विपक्ष की सरकारों को अस्थिर और बदनाम करने और फर्जी मामले पैदा, राज्य के अधिकारों में हस्तक्षेप करने का काम बेझिझक चल रहा है। शिवसेना ने कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र पुलिस वह दल है जिसने मुंबई बम धमाके के मुख्य आरोपियों को फांसी की सजा दिलवाने और 26/11 आंतकी हमले में जान की बाजी लगाकर आंकतवादी कसाब को फांसी लटकवाया था।  
 

खबरें और भी हैं...