दैनिक भास्कर हिंदी: नालासोपारा हथियार मामले में पश्चिम बंगाल से हुई गिरफ्तारी, महाराष्ट्र एटीएस की कार्रवाई 

January 24th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नालासोपारा हथियार बरामदगी और पुणे में आयोजित किए जाने वाले सनबर्न फेस्टिवल को निशाना बनाने की साजिश में शामिल आरोपी को महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपी ने ही दूसरे आरोपियों को बम बनाने का प्रशिक्षण दिया था।

इस मामले में एटीएस अब तक 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को 30 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।  गिरफ्तार आरोपी का नाम प्रताप जुदीष्टर हाजरा है। 34 वर्षीय हाजरा को मुंबई एटीएस की टीम ने कोलकाता एसटीएफ और पश्चिम बंगाल पुलिस की टीम के साथ मिलकर साउथ 24 परगना जिले के उष्टी में स्थित नैनापुर से दबोचा है।

जानकारी के अनुसार आरोपी मूल रूप से पश्चिम बंगाल का ही रहने वाला है। एटीएस ने साल 2018 में अगस्त महीने में नालासोपारा इलाके में वैभव राऊत नाम के आरोपी के घर में छापा मारकर भारी मात्रा में हथियार बरामद किया था। 10 अगस्त 2018 को मामले में दूसरे आरोपियों के साथ-साथ हाजरा के खिलाफ भी मुंबई के कालाचौकी पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई थी। इसके बाद से ही एटीएस हाजरा की तलाश कर रही थी। धीरे-धीरे एटीएस ने मामले में 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

दिसंबर 2018 में अदालत में दायर आरोपपत्र में एटीएस ने दावा किया था कि आरोपी अलग-अलग जगहों पर धमाके कर सामाजिक सौहार्द खराब करना चाहते थे। एटीएस को उसके पश्चिम बंगाल में होने की सूचना मिली जिसके बाद स्थानीय पुलिस की मदद से उसे दबोचा गया। एटीएस के एक अधिकारी ने बताया कि हाजरा साल 2017 में पुणे के बावधन में आयोजित किए जाने वाले सनबर्न फेस्टिवल में धमाका करने की साजिश में भी शामिल था। आरोपी इस कार्यक्रम को हिंदु संस्कृति के खिलाफ मानते थे इसलिए इसको निशाना बनाने की साजिश रची थी।