दैनिक भास्कर हिंदी: अंतरराज्यीय गिरोह ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर लगाई चपत

December 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जैसे-जैसे हम डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहे हैं साइबर क्राइम भी बढ़ रहा है। शहर में दो स्थानों पर ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले उजागर हुए हैं। घटनाओं को अंतरराज्यीय गिरोह द्वारा अंजाम दिया गया है। एमआईडीसी और सीताबर्डी थाने में आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए गए हैं। साइबर सेल की मदद से जांच की जा रही है। 

18 लाख दिलाने का किया था वादा
पुलिस के अनुसार हिंगना रोड स्थित गजानन नगर निवासी मनोज हातगांवकर (50) को अपने व्यापार के लिए करीब 18 लाख रुपए के कर्ज की जरूरत थी। 23 अगस्त 2018 को उनके मोबाइल पर एक फाइनेंस कंपनी का संदेश आया, जिसमें कम दर पर कर्ज उपलब्ध कराने की जानकारी दी गई थी। मनेाज ने उस कंपनी से संपर्क किया। हरियाणा के गुड़गांव निवासी राजवीर सिंह के जरीये राजश्री फाइनेंस कंपनी, रॉयल फाइनेंस कंपनी से जुड़े सिराजदीप सिंह, राणा वकील, रोहित बंसल, मुकेश बंसल और सुरेश कुमार शर्मा नामक व्यक्तियों से अलग-अलग फोन नंबरों पर बात हुई। इन लोगों ने मनोज को 18 लाख रुपए का कर्ज देने का वादा किया। इसके लिए शुल्क के रूप में मनोज को कुछ रकम बैंक खाते में जमा करने के लिए कहा गया था। झांसे में आए मनोज ने उक्त लोगों द्वारा बताए गए बैंक खाते में 87 रुपए जमा कर दिए। इसके बाद भी उसे कर्ज नहीं मिला। उसके बाद संपर्क करने पर उन लोगों के फोन बंद मिले। इससे मनोज को ठगे जाने का अहसास हुआ। तब उन्होंने एमआईडीसी थाने में शिकायत दर्ज कराई। 

खाते से निकाल लिए 40 हजार 
धोखाधड़ी की दूसरी घटना सीताबर्डी थानांतर्गत हुई है। धरमपेठ स्थित आंबेडकर नगर निवासी सुधीर मोटघरे 38 वर्ष का स्टैंट बैंक ऑफ इंडिया के धरमपेठ स्थित शाखा में खाता है। 9 सितंबर 2018 को किसी ने ऑनलाइन 40 हजार रुपए सुधीर के खाते से निकाल लिए हैं। करीब तीन महीने बाद गुरुवार को यह मामला दर्ज किया गया है। धोखाधड़ी की इन दोनों घटनाओं को हरियाणा के गुड़गांव,चंडीगढ़ से अंजाम दिया गया है। घटनाओं  को जिस तरह से अंजाम दिया है गया है, उससे अंतरराज्यीय स्तर पर गिरोह सक्रिय होने पुष्टि हुई है।