comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Assam Assembly Election 2021: अमित शाह बोले- आने वाले सालों में हमारी सरकार चलती रहेगी

Assam Assembly Election 2021: अमित शाह बोले- आने वाले सालों में हमारी सरकार चलती रहेगी

डिजिटल डेस्क, गुवाहाटी। असम विधानसभा चुनाव 2021 की शुरुआत करने गुवाहाटी पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा,आज असम को एक करने के लिए, असम की जनता को एक करने के लिए, असम को भारत के साथ जोड़ने के लिए और असम को विश्व के अंदर गुरु शंकर देव के संदेश को पहुंचाने के लिए एक बहुत बड़ा कार्यक्रम यहां होने जा रहा है।

असम में लगभग साढ़े 4 साल से असम के अंदर जो विकास की यात्रा मोदी जी के नेतृत्व में यहां सर्वानंद सोनोवाल और हेमंत विश्वा शर्मा की जोड़ी ने आगे चलाई है, इसका एक महत्वपूर्ण पड़ाव आज है। मोदी जी ने 2013 के चुनाव अभियान में कहा था कि जब तक पूर्वी भारत विकसित नहीं होता, भारत का विकास असंभव है।

2014 में देश की जनता ने मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाया, मोदी जी के जो शब्द थें, उसको उन्होंने चरितार्थ किया है। असम में एक समय आंदोलनों का दौर आया, अलग-अलग बातों को लेकर आंदोलन हुए, सैकड़ों युवा मारे गए। असम की शांति को भंग कर दिया गया साथ ही असम के विकास को रोक दिया गया।

मुझे आज बड़ा आनंद है कि श्रीमंत शंकरदेव का जो जन्मस्थान था, वो घुसपैठियों ने कब्जाया हुआ था। उसे खाली करके आज शंकर देव की महान स्मृति को चीर काल तक स्थायी करने का काम  हेमंत विश्वा शर्मा और हमारे मुख्यमंत्री जी करने जा रहे हैं। मोदी जी जबसे प्रधानमंत्री बनें तब से असम की स्वास्थ्य सेवाओं के लिए बहुत बड़ा योगदान किया है।

असम में लगभग 15 लाख अस्थाई और 5-10 लाख स्थायी आबादी के लिए आधुनिक सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनने वाली है। आज राज्य के अंतर्गत 11 विधि कॉलेजों की स्थापना की आधारशिला रखी गई है। असम में निजी विधि महाविद्यालय हैं और बहुत पुराना एक विद्यालय भी है। आसाम ने इस देश को गोगोई साहब के रूप में CJI देने का काम किया है। 

मोदी जी ने पूर्वोत्तर के विकास को केंद्र में रखकर 6 साल सरकार चलाई है। मुझे भरोसा है कि आगे भी हमारी सरकार इसी प्रकार पूर्वोत्तर की सेवा करती रहेगी। पहले 5 साल में कभी कभार कोई प्रधानमंत्री पूर्वोत्तर में आता था। लेकिन मोदी जी ने 6 साल के अंदर स्वयं 30 बार पूर्वोत्तर के दौरा किया है और हर बार तौफा लेकर आये हैं। 

मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में असम के चाय बगान के ढेर सारे काम किए हैं। सबसे पहले 7.20 लाख लोगों के बैंक अकाउंट खोलकर बिचौलियों से बचाने का काम किया है। एक जमाने में यहां के सारे राज्यों में अलगाववादी अपना एजेंडा चलाते थे, युवाओं के हाथों में बंदूक पकड़ाते थे। आज वो सभी संगठन मुख्य प्रवाह में शामिल हो गए हैं और आज युवा अपने नए स्टार्टअप के साथ विश्व भर के युवा के साथ स्पर्धा करके अपने अष्टलक्ष्मी को भारत की अष्टलक्ष्मी बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। 

कमेंट करें
wuy9E