दैनिक भास्कर हिंदी: एमपी के सीएम शिवराज सिंह के बयान पर केन्द्रीय राज्यमंत्री आठवले हुए नाराज

September 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट को लेकर दिए बयान पर केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले और दिल्ली के भाजपा सांसद उदित राज ने नाराजगी जताई है। राज्यमंत्री आठवले ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान को अपना बयान वापस लेना चाहिए, अन्यथा इससे अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों में रोष बढेगा। आरपीआई नेता आठवले ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने एससी-एसटी एकट पर अपना बयान सवर्ण जातियों को खुश करने के लिए दिया है। लेकिन उनके इस बयान से एससी-एसटी समुदाय में असुरक्षा की भावना बढेगी और वे भाजपा से और दूर जा सकते है। उन्होने ऐसा बयान देने से बचना चाहिए था। क्योंकि मुख्यमंत्री अगड़े और पिछड़े दोनों के लिए होता है।

वहीं भाजपा सांसद उदित राज ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान के इस बयान से चिंतित और दु:खी हो गए है। केन्द्र सरकार नियम बनाती है और मुख्यमंत्री उसे कमजोर कर देते है जो कि सही नही है। मै अपनी बात संसद में रखूंगा। साथ ही अपने बयान को वापस लेने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से और राष्ट्रीय अध्यक्ष से भी बात करुंगा और उन्हे समझाऊंगा।

गौरतलब है कि गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा था कि एससी-एसटी एक्ट में जांच के बाद ही गिरफ्तारी होगी। राज्य में सभी वर्गों के हितों को सुरक्षित रखा जाएगा। जो भी शिकायते आएंगी उसकी पहले जांच होगी और फिर गिरफ्तारी होगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट को लेकर फैसला सुनाते हुए जांच के बाद ही मामला दर्ज किए जाए। इस फैसले के खिलाफ देशभर में हुए आंदोलन के बाद सरकार ने संसद में इस एक्ट में संशोधन कर जांच के पहले गिरफ्तारी वाले प्रावधान को फिर से बरकरार कर दिया था।
 

खबरें और भी हैं...