दैनिक भास्कर हिंदी: क्यूआर कोड और जीपीएस सिस्टम से अपराध पर लगाम लगा रही बीड पुलिस

January 29th, 2021

डिजिटल डेस्क, बीड।  पिछले कुछ महीनों में जिले में रात्रि  के वक्त डकैती की संख्या में वृद्धि हुई थी लेकिन अब नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक राजाराम स्वामी और एडिशनल एसपी सुनील लांजेवार ने ऐसी घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए क्यू आर कोड सिस्टम बनाया है। जिले के पुलिस अधीक्षक ने पूरे जिले के अपराध का सर्वेक्षण किया जिले के सभी तालुका या सार्वजनिक स्थानों पर क्यूआर  कोड लगाए गए जहां अपराध की दर अधिक है । रात्रि गश्त कर्मियों द्वारा इस  कोड को स्कैन करने के बाद, पूरी जानकारी बीड पुलिस कंट्रोल रूम को जाती है। रात्रि गश्त करने वाले कर्मचारियों के लिए मोबाइल में क्यु आर कोड नामक ऐप विकसित किया गया है  ।  क्यू आर कोड  स्कैन करने के बाद अपनी सेल्फी अपलोड करनी होगी  ।

कर्मचारी जिस क्षेत्र में गश्त कर रहा है, उसके बारे में सभी जानकारी पुलिस नियंत्रण कक्ष में जाती है। इससे अपराध में कमी आई है क्योंकि पुलिस मौके पर गश्त कर रही है क्यू आर कोड की वजसे पुलिसकर्मी जो पेट्रोलिंग कर रहा है वह दूसरे स्थान पर स्थानांतरित नहीं किया जाता है और पुलिस को एक अच्छा अनुशासन भी मिला है। बीड सिटी पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक रवि सानप ने कहा कि हमारे क्षेत्र में 20 क्यूआर कोड फिट किए गए हैं नतीजतन, अपराध अब नियंत्रण में है और यह भी आसान हो गया है क्योंकि हमें पता होता हे कि हमारे कर्मचारी वर्तमान में कहां  हैं सभी सूचनाओं के लिए बीड पुलिस अधीक्षक द्वारा एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है इस समूह के माध्यम से, आप हर दिन कितने क्यू आर कोड स्कैन किए जाते हैं, इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं पिछले दो दिनों के आंकड़ों पर गौर करें तो नब्बे प्रतिशत से अधिक कर्मचारियों ने अपना कर्तव्य निभाते हुए इस क्यूआर कोड को स्कैन किया है।


क्यू आर  कोड सिस्टम कैसे काम करता है....   
बीड जिले में कुल ग्यारह तहसील है जिनमें सभी तहसील और गाँव स्तर पर ये क्यूआर  कोड लगाए गए हैं। पूरे जिले में 472 स्थान या क्यूआर  कोड लगाए हैं  । बीड शहर पुलिस स्टेशन के तहत 20. और बीड ग्रामीण पुलिस स्टेशन के तहत 4.और 31 शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन के तहत और 11 पेठ बीड पुलिस स्टेशन के तहत हैं। क्यूआर कोड फिट किए गए हैं। बीड शहर में कुल 90 क्यूआर कोड लगाए गए हैं  । बीड के बाद, अंबाजोगाई तालुका में सबसे अधिक क्यूआर कोड  हैं । अंबजोगाई शहर पुलिस स्टेशन के तहत 32 और अंबाजोगाई ग्रामीण पुलिस स्टेशन के तहत 12 क्यूआर कोड लगाए गए हैं।. ये क्यूआर कोड सभी सार्वजनिक स्थानों जैसे बैंक बस स्टैंड एटीएम हाँटेलों में स्थापित किए गए हैं।

रात में गश्त करने वाले प्रत्येक पुलिस कर्मियों के मोबाइल में क्यबआर कोड नामक एक ऐप विकसित किया गया है 
यह ऐप आपको बारकोड स्कैन करने के बाद अपनी सेल्फी अपलोड करने का विकल्प देता है। पुलिस कंट्रोल रूम के 
स्टाफ  ने बताया कि इससे कंट्रोल रूम को सारी जानकारी मिलती है कि सभी कर्मचारी कहाँ काम कर रहे हैं और क्या कर रहे हैं, इसलिए अपराध पर अंकुश लगा है।  

लगभग 80 से 90% क्यूआर कोड काम कर रहे हैं। कभी-कभी तकनीकी समस्याएं उत्पन्न हुई हैं लेकिन अधिकांश भाग के लिए, वे पुलिस अच्छा काम कर रहे हैं।एडिशनल एसपी सुनील लांजेवार