आमदनी बढ़ाने की कवायद: नागपुर जिले में 1394 लाभार्थियों को रमाई घरकुल योजना का लाभ

June 27th, 2022

डिजिटल डेस्क,नागपुर।  जिला परिषद के सरपंच भवन में लॉन, सभागृह और कमरों का किराया तय हुआ है। लोकनिर्माण समिति की बैठक में तय हुआ किराया 1 जुलाई से लागू होगा। जिला परिषद की आमदनी बढ़ाने की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।

सिविल लाइंस परिसर में जिला परिषद का सरपंच भवन है। पांच साल पहले सरंपच भवन के मैदान में लॉन बनाने के लिए मैदान समतल किया गया। कंपाउंड वॉल, स्टेज, कमरों का निर्माण किया गया। सभागृह की मरम्मत की गई। इस काम पर 25 लाख रुपए खर्च किए गए। संचालन के लिए एजेंसी नियुक्त करना तय हुआ, लेकिन अमलीजामा नहीं पहनाया गया। जिप में सत्ता परिवर्तन के बाद फिर इस विषय पर चर्चा हुई। पहले बीओटी पर देने का िवचार किया गया, लेकिन कदम आगे नहीं बढ़े। प्रसार-माध्यमों ने शहर के मध्यवर्ती स्थान पर करोड़ों रुपए की संपत्ति का कोई उपयोग नहीं होने की खबरें प्रकाशित करने पर जिप प्रशासन नींद से जागा।

अब स्वयं संचालन करने का निर्णय लिया गया। किराया भी तय किया गया है। विवाह तथा अन्य समारोह के लिए सभागृह व लॉन का किराया 25 हजार रुपए, गेस्ट हाउस का कमरा 500 से 1000 रुपए, पहले माले का प्रशिक्षण सभागृह 10 हजार रुपए किराए से दिया जाएगा। विद्युत, पानी और स्वच्छता शुल्क अलग से लिया जाएगा। अंभोरा, नरखेड़ और पारशिवनी में जिप के विश्रामगृह हैं। उसके कमरे का किराया 500 रुपए निर्धारित किया गया है। 

जनप्रतिनिधि और कर्मचारियों को छूट
जिला परिषद तथा पंचायत समिति पदाधिकारी, सदस्य, सरपंच तथा जिला परिषद कर्मचारियों को किराए में छूट दी जाएगी। जिप अध्यक्ष रश्मि बर्वे और उपाध्यक्ष तथा लोकनिर्माण समिति सभापति सुमित्रा कुंभारे ने इस विषय में निर्णय लिए जाने की जानकारी दी।