• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Beohari block of Shahdol Family of deceased farmer did not get benefit of Sambal Yojana Beohari CEO Anil Soni Secretary Ramakrishna Tiwari

दैनिक भास्कर हिंदी: शहडोल: कागजों में ग्राम सचिव ने बढ़ा दी मृतक आदिवासी की उम्र, संबल योजना के लाभ के लिए भटक रहा है परिवार

June 21st, 2020

डिजिटल डेस्क, ब्यौहारी। सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए एक आदिवासी परिवार पिछले एक साल से अधिकारियों के चक्कर काट रहा है। ब्यौहारी ब्लॉक की ग्राम पंचायत अल्हरा के निवासी राजेंद्र सिंह गोंड की बीते वर्ष आकस्मिक मृत्यु होने के बाद परिजनों को अब तक संबल योजना का लाभ नहीं मिल सका। दरअसल अल्हरा सचिव रामकृष्ण तिवारी ने दस्तावेजों में मृतक की उम्र 60 वर्ष दर्शाकर लाभार्थियों को अनुग्रह सहायता राशि से वंचित कर दिया। जबकि आधार और वोटर आईडी के मुताबिक मृतक की वास्तविक उम्र 45 वर्ष है।

जनपद पंचायत सीईओ ने भी नहीं की कार्रवाई
योजना का लाभ न मिलने पर मृतक की पत्नी रामप्यारी द्वारा मामले की शिकायत ज.पं. ब्यौहारी सीईओ अनिल सोनी से की गई। हालांकि ब्यौहारी सीईओ ने सचिव को कारण बताओ नोटिस जारी ज़रूर किया, लेकिन इसके बाद उन्होंने मामले पर न ही कोई कार्रवाई की और न ही मृतक के परिजनों को अनुग्रह सहायता राशि प्राप्त हो सकी। ग्रामीणों का कहना है कि सचिव को ब्यौहारी सीईओ का संरक्षण प्राप्त है। प्रशासन से सहायता न मिलने पर लॉकडाउन के चलते परिजनों को आर्थिक परेशानी का सामना भी करना पड़ा। बहरहाल यह मामला जिला कलेक्टर के पास लंबित है।

मजदूरों को भी नहीं दी मजदूरी राशि
अल्हरा के मजदूरों का भी आरोप है कि उन्हें पंचायत की ओर से मजदूरी राशि नहीं दी गई। इस संबंध में सचिव के खिलाफ ज.पं. ब्यौहारी सीईओ से तीन महीने पहले शिकायत की गई, लेकिन इस मामले में भी न सचिव के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई और न ही मजदूरों को मजदूरी राशि प्राप्त हुई।

बता दें कि वर्तमान में रामकृष्ण तिवारी को अल्हरा के साथ ग्रा.पं. निपनिया का सचिव प्रभार दिया गया है, जहां हाल ही में एक परकोलेशन टैंक का निर्माण किया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि यह कार्य जेसीबी मशीन द्वारा कराया गया, जबकि इसके लिए हितग्राहियों को मजदूरी दी जानी चाहिए थी। और अब कोरम पूरा करने के लिए दस्तावेजों में हेर-फेर किया जा रहा है।

 

फोटो- रामकृष्ण तिवारी (सचिव)

 

 

 

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...