comScore

गैरकानूनी रूप से बेचा जा रहा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का फार्म

February 08th, 2019 15:09 IST
गैरकानूनी रूप से बेचा जा रहा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का फार्म

डिजिटल डेस्क,नागपुर। प्रधानमंत्री बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के नाम पर शहर में भारी फर्जीवाड़ा हो रहा है। योजना के तहत दो लाख रुपए मिलने का झांसा देकर दो-दो रुपए में फर्जी फार्म बेचे जा रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग फार्म खरीद रहे हैं और भरकर भारत सरकार, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, शास्त्री भवन, दिल्ली, पिन नंबर-110001 के पते पर भेज रहे हैं।  इमामबाड़ा और कॉटन मार्केट स्थित डाकघर के बाहर बाहर भीड़ लगी हुई थी। यहीं नहीं, इस फार्म पर स्थानीय नगरसेवकों के हस्ताक्षर भी हैं। कॉटन मार्केट स्थित गुर्जरवाड़ी बस्ती में बड़ी संख्या में फार्म बेचे जाने की खबर है। स्थानीय पाषर्द हर्षला साबड़े के अनुसार, लोग उनके घर व कार्यालय पर फार्म पर हस्ताक्षर के लिए लगातार पहुंच रहे हैं। 

फार्म वितरण या ब्रिकी गैर-कानूनी  
महिला व बाल विकास मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर प्रधानमंत्री बेटी- बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के प्रथम पृष्ठ पर इससे संबंधित चेतावनी दी गई है। चेतावनी मे कहा गया है कि योजना में नगद प्रोत्साहन के नाम पर फार्म का वितरण या ब्रिकी गैर-कानूनी है। इसमें कोई डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ हस्तांरण) योजना नहीं है। यह भी कहा गया है कि इसकी शिकायत पुलिस स्टेशन, जिलाधिकारी या जिला मजिस्ट्रेट से की जा सकती है। मंत्रालय की ओर से लोगों को धोखाधड़ी करने वालों के जाल में नहीं फंसने और व्यक्तिगत जानकारी साझा नहीं करने की सलाह भी दी गई है। 

हम तो बस जेरॉक्स कर रहे 
गुर्जरवाड़ी में छोटे से किराने की दुकान से भास्कर संवाददाता ने दस रुपए में पांच फार्म खरीदीं। दुकान पर मिली दुकानदार की बेटी की बातों से लगा उन्हें किसी राजनीतिक कार्यकर्ता की ओर से फार्म उपलब्ध कराया गया है। हालांकि दुकानदार ओमप्रकाश के अनुसार, दुकान पर कोई फार्म लेकर जेरॉक्स कराने आया था, जिसकी कॉपी उन्होंने रख ली और बाद में लोगों को जेरॉक्स कर-करके दो रुपए में उपलब्ध कराया। उनका कहना है जेरॉक्स की लागत दो रुपए है और हमने वही लिया है।

शिकायत धंतोली जोन को भेजी
मनपा के समाज कल्याण विभाग की अधिकारी रंजना लाड ने मामला संज्ञान में लाने पर कहा कि मामला धंतोली जोन-4 को भेज दी गई है। वे मामले पर कार्रवाई करेंगे। भास्कर संवाददाता के धंतोली जोन से संपर्क करने पर पता चला कि सहायक आयुक्त स्मिता काले छुट्टी पर हैं। सहायक अधीक्षक किशोर चरडे ने कहा-हमें शिकायत मिली नहीं हैं। शिकायत मिल जाए तो बताते हैं, क्या करेंगे।  

योजना में यह  प्रावधान
प्रधानमंत्री बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, योजना का उद्देश्य भ्रूण हत्या रोकना और लड़कियों को सुरक्षा प्रदान करना है। इसके तहत बैंक या डाकघर में योजना के लिए विशेष खाता खुलवाना होगा। इस खाते में जमा रकम पर सरकार की ओर से रकम जोड़कर अवधि पूर्ण होने के बाद लाभार्थी को प्राप्त होगी। योजना के अंतर्गत अगर प्रतिवर्ष 12,000 रुपए की राशि 14 वर्ष तक जमा करवाई जाए तो कुल जमा रकम एक लाख 68 हजार रुपए होगी। योजना के  अंतर्गत सरकार की ओर से  6 लाख 7 हजार 128 रुपए प्रदान की जाएगी। जमा रकम पर 9.1 प्रतिशत वार्षिक के दर से ब्याज प्रदान किया जाएगा। बेटी के 18 वर्ष के होने  50% राशि निकाल सकते हैं और शेष राशि बेटी की शादी के समय निकाली जा सकती है। इसका फार्म ऑनलाइन या बैंक या डाकघर से प्राप्त किया जा सकता है। 
 

कमेंट करें
ORaHr