दैनिक भास्कर हिंदी: BJP सांसद के बेतुके बोल, ईसाईयों का स्वतंत्रता संग्राम में योगदान नहीं

July 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बीजेपी के सांसद आए दिन कुछ न कुछ बेतुका बयान देते ही रहते हैं। इसी क्रम में बीजेपी के एक और सांसद गोपाल शेट्टी ने ऐसा बयान दिया है, जो एक धर्म विशेष के लोगों की भावनाओं को आहत कर सकता है। शेट्टी ने कहा कि ईसाई तो अंग्रेज थे और उनका देश के स्वतंत्रता आंदोलन में कोई योगदान नहीं था। उनके इस बयान की जबरदस्त आलोचना हो रही है। बीजेपी ने भी गोपाल शेट्टी के बयान पर हंगामा बढ़ता देख खुद को इससे अलग कर लिया है। बयान पर विवाद बढ़ता देख शेट्टी ने कहा कि वह पार्टी को मुश्किल में डालना नहीं चाहते हैं और इसके लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि भारत की आजादी में हिंदू-मुस्लिम एकजुट होकर लड़े थे, लेकिन ईसाई इसमें शामिल नहीं हुए थे क्योंकि वो अंग्रेज थे। यह बातें उन्होंने मलाड के मालवानी में ईद-ए-मिलाद नाम के एक कार्यक्रम के दौरान कहीं थी।

 

मुंबई BJP चीफ ने कहा यह हमारा स्टैंड नहीं

मुंबई भाजपा चीफ आशीष शेलार ने एक बयान जारी कर कहा है कि उनका (गोपाल शेट्टी) कहने का वो मतलब नहीं था। आशीष शेलार ने यह भी कहा कि भाजपा ऐसे किसी बयान का समर्थन नहीं करती है और ना ही यह भाजपा का आधिकारिक स्टैंड है। वहीं अब सांसद शेट्टी ने भी अपने बयान पर कदम पीछे खींच लिए हैं। शेट्टी का कहना है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। बता दें कि गोपाल शेट्टी ने बीते दिनों ही विशेष विवाह अधिनियम 1954 में संशोधन की मांग भी उठाई थी। गोपाल शेट्टी ने कहा था कि देश में लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल कर देनी चाहिए। 

 

पहले भी दे चुके विवादित बयान

गोपाल शेट्टी का कहना था कि 18 साल में लड़की मानसिक, भावनात्मक और बौद्धिक तौर पर उतनी बालिग नहीं हो पाती है, लिहाजा लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल कर देनी चाहिए। गोपाल शेट्टी मुंबई नॉर्थ से भाजपा सांसद हैं और इससे पहले भी कई विवादों में उनका नाम सामने आ चुका है। साल 2016 में गोपाल शेट्टी ने किसानों द्वारा खुदकुशी करने पर भी टिप्पणी की थी कि आजकल किसान भुखमरी या बेरोजगारी से परेशान होकर आत्महत्या नहीं करते, लेकिन आजकल खुदकुशी पर मुआवजा बांटना फैशन बन गया है। गोपाल शेट्टी के इस बयान पर खूब हंगामा भी हुआ था।

 

भाजपा नेता शाएना एनसी की प्रतिक्रिया

शेट्टी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा नेता शाएना एनसी ने कहा, 'हमें यह समझना होगा कि हमारी सरकार का लक्ष्य ''सबका साथ, सबका विकास'' है। इसलिए भेदभाव को कोई सवाल ही नहीं उठता। मेरा मानना है कि किसी एक व्यक्ति के बयान को पूरी पार्टी से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।'