दैनिक भास्कर हिंदी: Assam Assembly Election: असम विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी किया संकल्प पत्र, NRC होगा लागू

March 23rd, 2021

डिजिटल डेस्क, दिसपुर। असम विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपना संकल्प पत्र जारी कर दिया है। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने असम में इसे जारी किया। असम के अलावा आज बंगाल पर भी नज़र है, जहां पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह चुनावी रैली करेंगे और रोड शो में भी शामिल होंगे। 

जेपी नड्डा ने कहा, असम प्रदेश जो आज से पांच वर्ष पूर्व एक तरीके से स्थूल पड़ गया था और स्थूल के साथ समस्याओं के निराकरण की ना इच्छा शक्ति थी और ना ताकत थी। ऐसे में समस्याओं का जमावड़ा बढ़ा हुआ था उन समस्याओं के समाधान को गति देने का काम पिछले पांच साल में NDA सरकार ने किया है। मिशन शिशु उन्नयन- बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। बच्चों को उच्च गुणत्ता पूर्ण शिक्षा निशुल्क दी जाएगी। आठवीं कक्षा के बाद की छात्राओं को हम साइकिल देंगे जिससे ड्राप आउट रोक सकेंगे। 

 

 

बीजेपी संकल्प पत्र की अहम बातें

असम विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने जो संकल्प पत्र जारी किया है। इस संकल्प पत्र ने बीजेपी ने असम की जनता से कई बड़े वादे किए हैं। संकल्प पत्र के मुताबिक मिशन ब्रह्मपुत्र के तहत बाढ़ की समस्या को रोकने का प्रयास किया जाएगा, ताकि असम की जनता को इससे मुश्किल ना हो। वहीं, 30 लाख परिवारों को अरुणोदय योजना के तहत हर महीने 3 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके साथ ही सभी नामघरों को ढाई लाख रुपये की सहायता दी जाएगी, अवैध निर्माण को हटाया जाएगा और सरकारी स्कूलों में सभी बच्चों के लिए मुफ्त में शिक्षा, छात्राओं को आठवीं क्लास के बाद साइकिल दी जाएगी। 

संकल्प पत्र में असम में सही NRC को लागू करने की बात कही गई है। संकल्प पत्र जारी करते हुए जेपी नड्डा ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करेंगे। घुसपैठियों की पहचान की जाएगी। असम में परिसीमन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। आत्मनिर्भर असम के लिए अभियान चलाया जाएगा. हर क्षेत्रों को मदद दी जाएगी और उन्हें बढ़ावा दिया जाएगा। असम को सबसे तेज़ जॉब क्रिएयर राज्य के तौर पर स्थापित करेंगे। 2 लाख लोगों को सरकारी क्षेत्र में नौकरी, 30 मार्च 2022 तक एक लाख लोगों को नौकरी दे देंगे। निजी क्षेत्र में भी 8 लाख नौकरियों का वादा। स्वामी विवेकानंद के नाम से योजना चलाई जाएगी, जिसमें स्टार्टअप करने वालों को बढ़ावा दिया जाएगा। इसकी मदद से दस लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य। सभी को जमीन की मल्कियत का हक दिया जाएगा। ताकि असम के आम लोगों को मजबूत किया जा सके।

खबरें और भी हैं...