comScore

बीजेपी का महाराष्ट्र बचाओ आंदोलन,  फडणवीस ने कहा- गरीबों के लिए पैकेज घोषित करे ठाकरे सरकार


डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संकट के बीच प्रदेश भाजपा ने राज्य सरकार के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने प्रदेश सरकार से राज्य के गरीबों के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की है। मंगलवार को प्रदेश भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी से मुलाकात की। फडणवीस ने कहा कि भाजपा ने विभिन्न मांगों का ज्ञापन राज्यपाल को दिया है। फडणवीस ने कहा कि केंद्र सरकार ने अपना पैकेज घोषित कर दिया है। अब राज्य सरकार को छोटे-छोटे काम करने वालों के लिए ठोस पैकेज घोषित करना चाहिए। फडणवीस ने कहा कि राकांपा के अध्यक्ष शरद पवार किसानों को मदद करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगातार पत्र लिखते हैं। पवार गरीबों, दुकानदारों और छोटे उद्योगों को मदद करने के लिए भी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखें। 

महाराष्ट्र में हुई 40 फीसदी मौतें

फडणवीस ने कहा कि कोरोना संकट में मुंबई और महाराष्ट्र की स्थिति बिगड़ रही है। देश भर में सबसे अधिक कोरोना के मरीज महाराष्ट्र में हैं। देश भर में कोरोना के कारण हुई कुल मौत में से 40 प्रतिशत मौतें महाराष्ट्र में हुई है। राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। फडणवीस ने कहा कि मुंबई में कोरोना के मरीजों को अस्पताल में बेड नहीं मिल पा रहा है। एम्बुलेंस सेवाएं उपलब्ध नहीं हो पा रही है। महाराष्ट्र में स्वास्थ्य सेवा लचर हो गई है। फडणवीस ने कहा कि सरकार को प्रवासी मजदूरों की ओर ध्यान देना चाहिए। जो प्रवासी मजदूर सड़कों पर पैदल अपने गांव की ओर जा रहे हैं, उन्हें गाड़ियों में बिठाकर भेजा जाए। फडणवीस ने कहा कि राज्य में किसानों की हालत गंभीर है। हमने सरकार से किसानों के पास से पिछले खरीफ और रबी की फसलों को खरीदने की मांग की है। 

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि हमें कोरोना की स्थिति में राजनीति नहीं करनी है, लेकिन हम जनता की तकलीफों को नहीं उठाएंगे, तो उन्हें न्याय नहीं मिल सकेगा। इसलिए भाजपा ने महाराष्ट्र बचाओ की भूमिका अपनाई है। फडणवीस ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, कांग्रेस नेता संजय निरूपम, कांग्रेस नेता रत्नाकर महाजन ने सरकार के खिलाफ क्या-क्या बोला है, यह सभी लोगों के सामने है। मेरा मानना है कि कुछ लोग प्रत्यक्ष रूप से बोल रहे हैं और कुछ अप्रत्यक्ष रूप से अपनी बात कह रहे हैं। फडणवीस ने कहा कि केंद्र सरकार के पैकेज के खिलाफ सत्ताधारी दल के नेता प्रतिदिन बोल रहे हैं। वो बोलेंगे तो समाजसेवा है और हम टिप्पणी करेंगे तो राजनीति लगती है। फडणवीस ने कहा कि किसी को कुछ भी लगे, लेकिन कोई यह समझे कि हम चुप बैठेंगे तो अब ऐसा संभव नहीं है। फडणवीस ने कहा कि प्रदेश भाजपा के ट्विटर हैंडल से कोरोना को लेकर अगर कोई पुराना वीडियो ट्वीट किया गया होगा, तो उसको हटाने के निर्देश दिए जाएंगे। 

राज्य सरकार की नाकामी को लेकर विरोध करेंगे

इसके बाद 22 मई को प्रदेश भाजपा के कार्यकर्ता अपने घर के बाहर हाथ में प्लेकार्ड लेकर राज्य सरकार की नाकामी को लेकर विरोध करेंगे।  ऑडिओ ब्रिज के माध्यम से हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक में विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस और प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील, पार्टी के विधायक, सांसद और पदाधिकारी शामिल हुए। भाजपा नेताओं ने इस संदर्भ में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी से भी चर्चा की। 

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने राज्य के मजदूरों के लिए स्वतंत्र पैकेज घोषित करने की मांग राज्य सरकार से की है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पाटील ने कहा कि राज्य में विशेष रूप से मुंबई में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। अभूतपूर्व संकट के कारण भाजपा राज्य सरकार की आलोचना नहीं कर रही थी लेकिन दो महीने के लॉकडाउन के बाद भी मुंबई, पुणे, मालेगांव, औरंगाबाद और सोलापुर जैसे शहरों में परिस्थिति गंभीर हो गई है। इसलिए विपक्षी दल होने के नाते भाजपा ने आंदोलन करने का फैसला किया है। पाटील ने कहा कि मुंबई मनपा के पास 56 हजार करोड़ रुपए जमा हैं। शहर में विश्व के सर्वोत्तम चिकित्सक विशेषज्ञ हैं फिर भी सरकार कोरोना रोकने में नाकाम साबित हुई है।

कमेंट करें
K7yds