comScore

डिजिटल वर्ल्ड में दिखा सरकार के खिलाफ भाजपा का आंदोलन

डिजिटल वर्ल्ड में दिखा सरकार के खिलाफ भाजपा का आंदोलन

डिजिटल डेस्क,मुंबई। लॉकडाउन के बीच राज्य की महाआघाडी सरकार के खिलाफ भाजपा नेताओं-कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया आंदोलन डिजिटल वर्ल्ड दिखाई दिय़ा। कोरोना संकट के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यह आंदोलन करना था। इस लिए भाजपा नेताओं व उनके समर्थकों ने अपने घरों व इमारतों के बाहर से सरकार के खिलाफ नारे लिखी तख्तियां दिखाई। हालांकि इस बार सत्ताधारी महा विकास आघाड़ी ने सोशल मीडिया में भाजपा से निपटने की जोरदार तैयारी कर रखी थी। इसका असर दिखा और महा विकास आघाडी विपक्ष दल पर भारी पड़ती दिखाई दी। 

हर आंदोलन में भीड़ ही उसकी सफलता का पैमाना होता है। लेकिन इस आंदोलन में भीड़ जुटाने पर विपक्षी दल भाजपा को आलोचना का सामना करना पड़ता इसलिए पार्टी ने भीड़ जुटाने से परेहज किया और पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपनी डिजिटल मौजूदगी दिखाने की कोशिश की। उत्तरभारतीय संघ के अध्यक्ष आरएन सिंह अपने घऱ से सरकार के विरोध का नारा बुलंद किया तो पूर्व मंत्री व पार्टी विधायक विद्या ठाकुर अपने विधानसभा क्षेत्र गोरेगांव में राशन की एक दुकान के सामने अकेली खड़ी होकर लोगों को बताती रही कि किस तरह ठाकरे सरकार कोरोना संकट का सामना करने में विफल रही है। 

ट्विटर पर भारी पड़ी महा विकास आघाडी
राजनीति में सोशल मीडिया के सफल प्रयोग का श्रेय भाजपा को जाता है। पार्टी ने 2014 के चुनाव में पहली बार सोशल मीडिया का सफल इस्तेमाल करते हुए सत्ता हासिल की थी पर अब भाजपा की देखा-देखी विपक्षी भी इस काम में माहिर हो गए हैं। भाजपा के महाराष्ट्र आंदोलन के दौरान  महाविकास आघाडी के दिनों दलों शिवसेना, कांग्रेस व राकांपा ने सोशल मीडिया पर भाजपा के खिलाफ हमला बोलते हुए ट्विटर पर ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’ हैशटैग चलाया। ट्विटर पर ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’ और ‘महाराष्ट्र बचाओ’ ट्रेंड करता रहा। हालांकि भाजपा के ‘महाराष्ट्र बचाओ’ के मुकाबले महा आघाडी के ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’ को ज्यादा ट्विट मिले। 

किराए के कार्यकर्ता हैं सोशल मीडिया पर सक्रिय ये लोगः तावडे
सोशल मीडिया पर महा विकास आघाडी के बीस पड़ने के सवाल पर भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री विनोद तावडे ने कहा कि सोशल मीडिया पर सक्रिय आघाडी समर्थक पेड कार्यकर्ता हैं,  सत्ताधारी दलों ने करीब तीन सौ लोगों को इस काम के लिए वेतन पर नियुक्त किया है। ये सत्ताधारी दलों के समर्थक नहीं बल्कि भाड़े के लोग हैं। 

भाजपा को दूसरे राज्य के कार्यकर्ताओं की लेनी पड़ी मददः सावंत
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’वाले ट्रेड को बहुत अच्छा प्रतिसाद दिया। यह ट्रेंड दिनभर नंबर-वन पर रहा। सावंत ने दावा किया कि सोशल मीडिया पर अपनी इज्जत बचाने के लिए भाजपा को यूपी-बिहार के कार्यकर्ताओं की मदद लेनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि संकट के समय भाजपा जिस तरह की राजनीति कर रही है, वह जनता को पसंद नहीं आया है। इसके लिए मैं महाराष्ट्र की जनता को धन्यवाद देता हूं। सावंत ने बताया कि ‘महाराष्ट्र द्रोही बीजेपी’ हैशटैग को सवा लाख से अधिक लोगों ने ट्विट-रिट्विट किया। 

क्या है ट्विटर ट्रेंड
हम अक्सर सुनते हैं कि फला विषय दिनभर ट्विटर पर ट्रेंड करता रहा। ट्विटर ट्रेंड्स एक तरह से वहां हो रही चर्चा के विषय या उसकी तीव्रता का परिचायक होता है। जो कुछ भी ट्विटर पर कहा, पढ़ा जा रहा है, यह उसका पैमाना होता है। यह इस लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि ये बताते हैं कि कौन से मुद्दे, लोग या जगह चर्चा में हैं। जब कहा जाता है कि नरेंद्र मोदी या राहुल गांधी ट्रेंड कर रहे हैं तो इसका मतलब होता है कि उन लोगों के बारे में चर्चाएं ज़्यादा हो रही है।

कमेंट करें
yGiMu