दैनिक भास्कर हिंदी: सरकारी राशन की कालाबाजारी का पर्दाफाश, 14 टन चावल जब्त

June 24th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में सरकारी अनाज की कालाबाजारी थमने का नाम नहीं ले रही है। यशोधरानगर पुलिस ने कालाबाजारी में लिप्त एक आरोपी के घर पर छापेमारी कर 14 टन चावल, अन्य अनाज की बोरियां जब्त की है। इस माल की कीमत करीब 4 लाख 76 हजार रुपए है। पुलिस ने आरोपी के घर के सामने अनाज लदा ऑटो, 3 इलेक्ट्रिक वजन कांटा, एक मॉनिटर भी जब्त किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी सलमान उर्फ सोनू शम्मी खान पठान व उसके साथियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

अवैध तरीके से भंडारण
घर के सामने खड़े ऑटो क्रमांक एमएच 49-एआर 2175 में  5 बोरी चावल भरे थे। प्रत्येक बोरी में करीब 50 किलो चावल था। इसकी कीमत करीब  8,500 रुपए है। पुलिस ने 14 टन चावल, अन्य सरकारी अनाज, 5 बोरी चावल सहित  6 लाख 44 हजार 500 रुपए का माल जब्त किया है। खाद्यान्न आपूर्ति अधिकारी क्र. 2 श्रीमती गायकवाड को जानकारी दी गई।  उसके बाद घटनास्थल पर रागिनी गायकवाड, परिमंडल अधिकारी, उत्तर विभाग, नागपुर,  धीरज पुरी आपूर्ति निरीक्षक,  एम. एस. ठाकुर भी पहुंचे। आरोपी सोनू पठान सरकारी अनाज  चावल, गेहूं, दाल आदि का अवैध तरीके से भंडारण कर रखा था। आरोपी के खिलाफ यशोधरा नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है। 

गरीबों के अनाज पर डालते थे डाका
पुलिस के अनुसार यशोधरा नगर के वरिष्ठ थानेदार अशोक मेश्राम ने 21 जून को गुप्त सूचना मिलने पर कुंदनलाल गुप्ता नगर में सोनू पठान के घर पर सहयोगियों के साथ छापेमारी की।  वहां सरकारी अनाज बड़ी मात्रा में रखा हुआ था। इस अनाज को सोनू पठान बड़े व्यापारियों को बेचने की तैयारी में था। पुलिस के दस्ते ने कुंदनलाल गुप्ता नगर में बंडू किराना स्टोर्स के पास गली में 21 जून को शाम करीब 7 बजे छापेमारी की। पुलिस दस्ते को देखकर दो आरोपी अंधेरे में भागने में कामयाब हो गए। वह जिस घर में भागे थे, पुलिस दस्ता वहां पर दबिश दिया। उस मकान के तीन कमरे में अवैध तरीके से सरकारी अनाज का भंडारण था। पुलिस ने वहां से करीब 14 टन चावल व अन्य सरकारी अनाज जब्त किया। 

चौंकाने वाली बात यह है कि सोनू पठान के पास न तो कोई राशन दुकान है और न ही अनाज बिक्री का कोई लाइसेंस है। उसके बावजूद बड़ी मात्रा में सरकारी अनाज का चावल उसके यहां मिला है। सोनू की गिरफ्तारी से कई अनाज माफिया के कदम डगमगा उठे हैं। सोनू राशन अनाज की कालाबाजारी गिरोह का एक मोहरा है। यह कारोबार इतनी दूर तक फैला है कि वह शहर भर से राशन अनाज को इकट्टा करके उसे ट्रकों में भरकर बड़े अनाज व्यापारियों के पास भेजता था।  कलमना, शांति नगर, यशोधरा नगर, सदर और मानकापुर में गोविंद, मनियार, रहीम, अस्सू, चेतन, डड्डा सहित कई नाम पुलिस के पास पहुंच चुके हैं, जो सरकारी राशन की कालाबाजारी में लिप्त हैं। इन आरोपियों से कलमना के कुछ व्यापारी सरकारी अनाज की खरीदारी करते हैं। पिछले दिनों यशोधरा नगर में इसी राशन की कालाबाजारी में मानकापुर के एक राशन दुकानदार से उगाही करने के चक्कर में 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...