comScore

अकोला के बलवंत नगर में दंपति की संदिग्ध अवस्था में मिली लाश 

अकोला के बलवंत नगर में दंपति की संदिग्ध अवस्था में मिली लाश 

डिजिटल डेस्क अकोला। राजस्व विभाग में उपजिलाधिकारी पद से सेवानिवृत्त हुए 85 वर्षीय नत्थूराम भगत अपनी पत्नी 75 वर्षीय हेमलता भगत के साथ खदान पुलिस थाने की सीमा में आने वाले बलवंत नगर में रहते थे। शुक्रवार की सुबह दंपति की संदिग्ध अवस्था में मकान के हॉल में अधजली लाश मिली। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे के आला अधिकारियों ने घटना स्थल का जायजा लिया। पुलिस इस घटना की गंभीरता से जांच कर रही है जिससे कोई भी अधिकारी इस घटना के संदर्भ में जानकारी देने में असमर्थता दर्शा रहे हैं। 

गला दबाकर हत्या किए जाने का अंदेशा ? 
पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक तकरीबन 50 प्रतिशत जल गए हैं, मृतकों के लाश की बारीकी से मुआयना करने पर गला दबाने का चिन्ह दिखाई दे रहे हैं किंतु मौत की पुष्टि पोस्टमार्टम ब्यौरा ही उजागर करेगा, जिसके बाद यह हत्या है या दुर्घटना इसका खुलासा होगा। 

 एलसीबी खंगाल रही सीसीटीवी फुटेज 
घटना की जानकारी मिलते ही मौका ए वारदात पर पहुंचे स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक शैलेष सपकाल के मार्गदर्शन में कर्मचारी घटना स्थल के आसपास लगाए गए सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है, ताकि इस घटना से जुडा कोई रहस्य उनके हाथ लगा जाए तथा इस घटना की हकीकत सामने आ जाए । 

 घर में गैस का रिसाव 
हेमलता निवास में भगत दम्पति की लाश मिलने के बाद घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस दल ने घर का दरवाजा तोड़कर भीतर प्रवेश किया। लाश तथा पंलग पर रखे गद्दे में आग लगने के कारण धुआं भर गया था तथा गैस सिलेंडर से गैस का रिसाव हो रहा था। दल ने खिड़कियां खोलकर तथा गैस सिलेंडर को बंद कर रिसाव बंद किया। 

घटनास्थल रहस्य से भरा हुआ 
पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक के शरीर पर खरोंच के निशान के अलावा मृतक हेमलता के शरीर से स्वर्ण आभूषण गायब होने के निशान दिखाई दे रहे हैं। वहीं मकान से सभी खिड़किया व दरवाजे बंद होने के कारण हत्यारा आया कहां से तथा गया कहां से ? गैस सिलेंडर से रिसाव होने के बाद घर में आग क्यों नहीं लगी ? यदि सिलेंडर से आग लग गई तो भगत दंपति की लाश हॉल में कैसे पहुंची, गले पर निशान कैसे ? ऐसे कई अनगिनत सवाल उठ रहे हैं जो इस घटना को काफी रहस्यमयी बना रहे है। इस रहस्य के जाल को तोड़कर सच उजागर करना पुलिस के लिए काफी चुनौती भरा है। आगामी दिनों में पुलिस इस गुत्थी को कैसे सुलझाती है इस ओर सभी की निगाहें लगी हुई है।  

 नागपुर से हुए सेवानिवृत्त 
पुलिस सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार नत्थूजी भगत अकोला व यवतमाल में तहसीलदार के पद पर काम कर चुके है। जिसके बाद वे नागपुर में उपजिलाधिकारी पद से सेवानिवृत्त हुए है। एक बेटा बैंगलोर तथा दूसरा बेटा पुणे में नौकरी कर रहे है तथा बेटी हाल ही में जिलाधिकारी कार्यालय में नौकरी पर रहने के दौरान सेवानिवृत्त हुए है जो अपने परिसर के साथ घटना स्थल के दूसरी गली में रहती हैं।

 पुलिस अधीक्षक ने लिया जायजा 
बलवंत नगर में भगत दंपति की रहस्यमय मौत की जानकारी मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक अमोघ गांवकर, शहर उपविभागीय अधिकारी सचिन कदम ने घटना स्थल का जायजा लिया। अधीक्षक ने घर तथा जानकारी लेने के बाद खदान पुलिस थाना निरीक्षक किरण वानखडे, एलसीबी प्रमुख शैलेष सपकाल को जांच से सम्बन्धित कुछ निर्देश दिए।

कमेंट करें
2zEPA