दैनिक भास्कर हिंदी: एएसआई की वर्दी से लड़को ने उड़ाया सर्विस पिस्टल और कारतूस

May 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क,बालाघाट। रक्षित केन्द्र बालाघाट में पदस्थ एएसआई के पोच से अज्ञात लड़कों ने उसकी पिस्टल और 10 कारतूस निकाल लिया। जिसकी जानकारी एएसआई द्वारा देने पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ सर्विस पिस्टल और कारतूस चोरी मामले में अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कोतवाली थाना प्रभारी महेन्द्रसिंह यादव का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

बताया जाता है कि रक्षित केन्द्र में पदस्थ 61 वर्षीय एएसआई चौधरी की गत 29 अप्रैल को चुनाव में ड्युटी लगी थी। जब वह 29 अप्रैल की रात घर जा रहे थे। इस दौरान ही वह फारेस्ट नाका के आगे पेट्रोल पंप के पहले उन्हें चक्कर आ गया। जिससे तीन लड़के उनके पास मोटर साइकिल से पहुंचे और एएसआई चौधरी का स्वास्थ्य अच्छा नहीं होने की बात कहकर घर छोड़ देने की बात की और उन्हें वाहन में बैठालकर उनके घर ले गए। जहां पहुंचने पर जब एएसआई  चौधरी ने देखा तो उसकी वर्दी के पोज से उसकी पिस्टल और कारतूस गायब थी। जिसके बाद घबराये एएसआई ने तत्काल ही इसकी शिकायत कोतवाली थाने में की। इस मामले में कोतवाली पुलिस ने फरियादी एएसआई की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच में लिया है।

नगर में चोरो द्वारा अंजाम दी गई इस बड़ी घटना में चोर का शिकार स्वयं एक पुलिसकर्मी बन गया है, जिससे पता चलता है कि पुलिस कितनी सतर्क और चौकन्नी है। चोरो ने इस गंभीर वारदात को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दी है। साथ ही पुलिसकर्मी की सर्विस पिस्टल और कारतूस का चोरी हो जाना, किसी बड़ी अनहोनी की आशंका की ओर इंगित करता है। पुलिसकर्मी से सर्विस पिस्टल और कारतूस की चोरी करने के बाद लड़के उसका क्या उपयोग करते है, यह एक बड़ी चिंता का विषय है। चूंकि जिला एक नक्सल प्रभावित जिला है और जिस तरह से चोरो ने पुलिसकर्मी को अपना निशाना बनाया है, उससे कई संभावनायें को बल मिल रहा है। हालांकि पुलिस का हर मामले में जिस तरह से जवाब होता है, ठीक उसी तरह आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की बात कर रही है।