दैनिक भास्कर हिंदी: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस में फंसे एक और मंत्री, तेजस्वी ने मांगा इस्तीफा

August 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस मामले में एक और मंत्री फंसते हुए नजर आ रहे हैं। यह मंत्री मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के सहयोगी बताए गए हैं। मंत्री का नाम सामने आने के बाद विपक्ष हमलावर हो गया है। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और वर्तमान नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मंत्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि सीएम नीतीश कुमार को इस मंत्री को भी तुरंत हटा देना चाहिए।

तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं बिहार के सीएम नीतीश कुमार से इस दूसरे मंत्री को तुरंत पद से हटाने की मांग करता हूं, जिनके मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ गहरे संबंध हैं। बेहतर होगा कि नीतीश जी और सुशील मोदी इस मंत्री को तुरंत पद से हटा दें वरना हमें दोबारा एक और मंत्री को इस्तीफा देने के लिए मजबूर करना होगा।'
 

 

बता दें कि पिछले दिनों शहीद खुदीराम बोस सेंट्रल जेल में पुलिस अधिकारियों ने औचक निरीक्षण किया था। मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर इसी जेल में बंद है। निरीक्षण के दौरान ब्रजेश की भी तलाशी ली गई थी। ब्रजेश के पास से 40 फोन नंबर और केस से संबंधित कुछ दस्तावेज बरामद हुए थे। इन नंबरों में बिहार के एक मंत्री का भी नंबर है। ब्रजेश के पास से दस्तावेज बरामद होने के बाद यहां तैनात तीन पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया था।

इस्तीफा दे चुकी मंत्री मंजू वर्मा पर CBI की नजर
इस पूरे मामले में जो एक मंत्री का नाम सामने आया था, वह बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा हैं। मंजू वर्मा ने विपक्ष के बढ़ते दबाव के बाद इस्तीफा दे दिया था। अब मामले की जांच कर रही CBI मंजू वर्मा तक पहुंचने लगी है। CBI टीम ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस को लेकर शुक्रवार को मंजू वर्मा के पटना और बेगूसराय स्थित आवासों में छापेमारी की थी। CBI मंजू वर्मा पर पैनी नजर बनाए हुए है।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में 34 लड़कियों से रेप का मामला सामने आया था। टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टीआईएसएस) की रिपोर्ट के बाद इस सनसनीखेज कांड का पता चला था। इस मामले के सामने आते ही बिहार की राजनीति गरमा गई है।