comScore

औरंगाबाद में भाई-बहन की गला रेतकर निर्मम हत्या

औरंगाबाद में भाई-बहन की गला रेतकर निर्मम हत्या

डिजिटल डेस्क, औरंगाबाद। शहर के सातारा परिसर में एमआईटी के समीप एक बंगले में भाई-बहन 19 वर्षीय किरण लालचंद राजपूत और 17 वर्षीय सौरभ लालचंद राजपूत की गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी गई। मामला मंगलवार देर रात प्रकाश में आया। दोनों भाई-बहन के गले कटे हुए शव बाथरूम में मिले। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच डबल मर्डर से चारों ओर सनसनी फैल गई। सातारा पुलिस ने घटनास्थल पहुंचकर मामले की खोजबीन शुरू कर दी है। देर रात मामला दर्ज करने की प्रक्रिया जारी थी। पुलिस को शक है कि बंगले से करीब डेढ़ किलो जेवरात व नकदी गायब है और लूट अथवा संपत्ति विवाद के चलते इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। किरण शिवाजी नगर परिसर स्थित मॉडर्न कॉलेज में जबकि उसका भाई शाहनूर मियां दरगाह परिसर स्थित पोद्दार इंटरेशनल स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ता था।

सातारा पुलिस ने बताया कि सातारा परिसर के एमआईटी समीप अल्पाइन अस्पताल के समीप रहने वाले लालचंद राजपूत खेत काम के लिए परिवार संग जालना जिले में स्थित किसी गांव में अपनी कार से गए थे। घर में बेटी किरण और उसका भाई सौरभ थे। रात 8 बजे लालचंद पत्नी अनीता और 20 वर्षीय बेटी संग जब घर लौटे तो उन्होंने हॉर्न बजाया, लेकिन भीतर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। वाहन खड़ा कर राजपूत परिवार जब घर पहुंचा तो बड़े बंगले का दरवाजा खुला था। किरण और सौरभ को आवाज देकर बंगले के हॉल और अन्य कमरों में तलाशा गया, लेकिन उनका कोई अता-पता नहीं चला। बाद में जब राजपूत परिवार बाथरूम में पहुंचा तो चीख उठा क्योंकि दोनों भाई-बहनों के शव वहां पड़े थे। चहुंओर खून ही खून बिखरा पड़ा था। उनके गले काटकर उनकी हत्या की गई थी। चीख-पुकार पर उनके पड़ोसी बंगले में पहुंचे और तत्काल उक्त संगीन मामले की जानकारी सातारा पुलिस को दी गई।

 जानकारी मिलते ही पुलिस उपायुक्त डॉ. राहुल खाड़े, पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र मालाले टीम के साथ घटनास्थल पहुंचे। राजपूत परिवार काे ढाढ़स बंधाने के साथ ही पंचनामा किया गया और दोनों के शव विच्छेदन के लिए शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल घाटी में भेजे। देर रात हत्या का कारण पता नहीं चल सका था। पुलिस ने बताया कि हत्या दोपहर में हुई और रात में उजागर हुई। पुलिस ने गमगीन राजपूत परिवार के सदस्यों से पूछताछ करने के साथ ही परिसर के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले। किरण और उसका भाई सौरभ पढ़ाई में काफी होशियार और मितभाषी थे। उनकी हत्या की खबर सुनकर उनके मित्र भी हैरत में पड़ गए।

कमेंट करें
z3RBA