दैनिक भास्कर हिंदी: समय पर वेतन न मिलने से नाराज BSNL कर्मचारी नोटिस भेजने की तैयारी में

March 11th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  नागपुर समेत देश भर के भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिलने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सीटू ने सरकार को पत्र लिखकर नियमों का हवाला देते हुए वेतन रोकने को गलत बताया है। इधर ऑल यूनियन एंड एसोसिएशन ऑफ बीएसएनएल ने कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं देने से नाराज होकर केंद्र सरकार व बीएसएनएल को कानूनी नोटिस भेजने की चेतावनी दी है। याद रहे बीएसएनएल के नागपुर समेत देशभर में करीब 1 लाख 35 हजार अधिकारी-कर्मचारी हैं। नागपुर जिले में 11 सौ से ज्यादा अधिकारी-कर्मचारी हैं। फरवरी महीने का वेतन अभी तक किसी को नहीं मिला है। समय पर वेतन नहीं मिलने से नाराज कर्मचारियों की विविध यूनियनों ने बीएसएनएल प्रशासन को निवेदन देकर तुरंत वेतन देने की मांग की है।

यूनियन ने की शीघ्र वेतन देने की मांग

यूनियन ने ट्वीट करके सरकार से तुरंत वेतन देेने की मांग की। सरकार से उचित प्रतिसाद नहीं मिलने पर सीटू के राष्ट्रीय महासचिव तपन सेन ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर नियमों का हवाला देते हुए आगाह किया कि, वेतन किसी सूरत में नहीं रोका जा सकता। ऑल यूनियन एंड एसोसिएशन ऑफ बीएसएनएल ने केंद्र सरकार व बीएसएनएल के सीएमडी को कानूनी नोटिस देने की चेतावनी दी है।  एसोसिएशन की घटक बीएसएनएल एम्प्लॉइज यूनियन के जिलाध्यक्ष पंचम गायकवाड़ ने बताया कि, समय पर वेतन नहीं मिलने पर कर्मचारियों के बुरेहाल हो रहे हैं। बीएसएनएल को खत्म करने की साजिश हो रही है। सरकार व प्रशासन को निवेदन किए, लेकिन वेतन के मुद्दे पर उचित प्रतिसाद नहीं मिला। यूनियन की तरफ से कानूनी नोटिस दिया जाएगा। जरूरत पड़ी तो इस मुद्दे पर कोर्ट भी जाने की तैयारी है। यूनियन के मुख्यालय दिल्ली से कानूनी प्रक्रिया हो रही है। उल्लेखनीय है कि कर्मचारियों ने समय पर वेतन देने की मांग इसके पहले भी कर चुके हैं। लेकिन उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया गया ।