दैनिक भास्कर हिंदी: राज्यसभा में महाराज ने की मोदी सरकार की तारीफ, दिग्गी राजा ने ली चुटकी, कहा- वाह जी वाह 

February 4th, 2021

डिजिटल डेस्क ( भोपाल)। भारतीय जनता पार्टी के मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को राज्यसभा में कांग्रेस सहित विपक्ष के सभी नेताओं पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने विपक्षी नेताओं के सरकार पर हमले का जवाब देते हुए कहा कि आप सुनाने के लिए तो आ गए, लेकिन सुनने के लिए नहीं आए, अब आपको सुनना पड़ेगा। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जिस सरकार ने किसानों को लागत से डेढ़ गुना एमएसपी का भुगतान किया। जिस सरकार ने 2013-14 में 236 करोड़ से 40 गुना यानी 10,850 करोड़ रुपये दलहन किसानों को भुगतान किया, जिस सरकार ने किसानों के सम्मान के लिए हर साल उनके खाते में 6,000 रुपये पहुंचाया हो, जिस सरकार ने फसल बीमा योजना लागू की हो, वो सरकार किसान विरोधी नहीं बल्कि किसानों के लिए प्रतिबद्ध है।

इधर, सिंधिया के मुंह से मोदी सरकार की तारीफ सुनकर कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि ‘माननीय सिंधिया जी को बधाई देता हूं। जितने अच्छे ढंग से वे यूपीए सरकार का पक्ष रखते थे, उतने ही अच्छे ढंग से उन्होंने एनडीए सरकार का पक्ष रखा। वाह जी महाराज वाह, वाह जी महाराज वाह!’। 

वहीं, उस सयम भी राज्यसभा में अजीब स्थिति बन गई जब सिंधिया के भाषण के तुरंत बाद दिग्विजय सिंह का नाम बोलने के लिए सामने आया। इसके बाद राज्यसभा में ठहाके लगने लगे, ठहाकों के बीच सभापति एम वेंकैया नायडू ने चुटकी ली, बोले- ‘मैंने कुछ परिवर्तन तो किया नहीं। लिस्ट में जो नाम आए, उसी के हिसाब से मैंने दिग्विजय सिंह का नाम पुकारा।’ इस पर दिग्विजय सिंह भी मुस्कुरा दिए।

सिंधिया ने विपक्षी नेताओं की कथनी और करनी में अंतर का आरोप लगाया...

सिंधिया ने आगे कहा कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई घटना के मुद्दे को उठाते हुए विपक्षी सांसदों पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी का दिन हर भारतीय के लिए गौरव का दिवस होता है। 394 पुलिसकर्मियों और पत्रकारों को घायल किया। तिरंगे को लेकर पुलिसकर्मियों को पीटा गया और कुएं में फेंका गया। राजधानी के कई हिस्सों को तहस-नहस कर दिया गया। उसके बाद भी जब सदन चलता है तो राष्ट्रपति अभिभाषण का बहिष्कार कर देश और लोकतंत्र का तिरस्कार किया जाता है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विपक्षी नेताओं की कथनी और करनी में अंतर का आरोप लगाया।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भारत में कोरोना प्रबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्होंने कहा कि भारत का रिकवरी रेट 97 प्रतिशत है। जो विश्व में सबसे बड़ा आंकड़ा है। भारत को दूसरी लहर छू भी नहीं सकी है। नेतृत्व ने सही समय पर सही निर्णय लिया। लॉकडाउन से लाखों लोगों की जान बची। खुद कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा की संसदीय कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में सरकार के प्रयासों की सराहना की है।

 

 

खबरें और भी हैं...