दैनिक भास्कर हिंदी: बंगला विवाद: अखिलेश यादव को नोटिस भेज सकता है संपत्ति विभाग

June 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। सरकारी बंगले में तोड़फोड़ के मामले को लेकर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। राज्य संपत्ति विभाग अखिलेश यादव को चार विक्रमादित्य मार्ग के बंगले में हुई तोड़फोड़ के लिए उन्हें नोटिस देने की तैयारी में है। संपत्ति विभाग की प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक बंगले में तोड़फोड़ की गई है। 

 

 


राज्य संपत्ति विभाग की रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को भेज दी गई है। लोक निर्माण विभाग की मदद से नुकसान का आकलन किया जाएगा। इसके लिए राज्य संपत्ति अधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता को लेटर लिखा है। बंगले में हुए नुकसान का आकलन होने के बाद इसकी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को भेजी जाएगी। 

 

 

राज्य संपत्ति विभाग के अब तक के आकलन के अनुसार अखिलेश यादव के बंगले के निर्माण के लिए राज्य संपत्ति विभाग की तरफ से 1.70 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए थे। जिसमें से 81 लाख रुपये 31 मार्च से पहले खर्च नहीं किए गए थे जिसकी वजह से वो धनराशि लैप्स हो गई थी। बंगले पर विभागीय खर्च का अनुमान 89.99 लाख ही है। 

 

 

हालांकि इस बंगले का निर्माण कार्य एसपी के कोषाध्यक्ष और आर्किटेक्ट संजय सेठ की देखरेख में पूरा किया गया है। जिसमें 40 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। इसमें से राजस्व और सिंचाई विभाग से कितनी राशि खर्च की गई और निजी तौर पर कितना खर्च किया गया, इसका अनुमान लोक निर्माण विभाग के आर्किटेक्ट और इंजीनियर्स की मदद से कराया जाएगा। 

 

 

राज्य संपत्ति विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अखिलेश यादव के बंगले में छत से लेकर किचन, बाथरूम और लॉन तक के सामान निकाले गए हैं। तोड़फोड़ कर बिजली के सामान तक निकाल लिए गए और कुछ जगह बाथरूम की फिटिंग, एसी के स्विच बोर्ड, किचन में सिंक और टोटी, बाथरूम की टोटियां और लॉन में लगे बेंच तक निकाल लिए गए हैं। जिम, स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, साइकल ट्रैक को भी नुकसान पहुंचाया गया है।