दैनिक भास्कर हिंदी: बस सेवा बंद मात्र दिखावा,   मध्य प्रदेश आ-जा रही "जुगाड़ की बसें'

May 17th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लॉकडाउन की वजह से बस सेवा बंद है, लेकिन यह बंद मात्र दिखावा साबित हो रहा है। संतरानगरी से मध्य प्रदेश रोजाना अनेक बसें अा-जा रही हैं। कई ट्रैवल्स एजेंसियां मध्यप्रदेश सहित कुछ अन्य राज्यों में यात्रियों को लाने-ले-जाने मे जुटी है। इन एजेंसी संचालकों का दावा है कि वे बेरोक-टोक यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचा रहे हैं। दावा यह भी किया जा रहा है कि यात्रा के दौरान आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट की आवश्यकता नहीं है, मगर नागपुर से जबलपुर जाना हो तो भाड़ा 1200 रुपए प्रति व्यक्ति देना होगा। आम दिनों में जबलपुर का भाड़ा प्रति व्यक्ति लगभग 500 रुपए है। 

इस तरह यात्रियों के आवागमन से कोराना संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है। चौंकानेवाली बात यह है कि शहर प्रशासन की नजरों के सामने रोजाना कई बसों से मध्यप्रदेश के यात्री यहां पहुंच रहे हैं, लेकिन न तो इन यात्रियों की कोराना जांच की जा रही है, न ही उनसे कोरोना जांच रिपोर्ट मांगी जा रही है। लॉकडाउन के नियम का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है। इस मामले में ट्रैवल्स एजेंसी संचालकों की अधिकारियांे से साठगांठ की भी चर्चा है।  

कुछ ट्रैवल्स एजेंसी संचालकों से ग्राहक बनकर संपर्क करने पर इसका खुलासा हुआ। रविवार की दोपहर लोहापुल चौक स्थित महाराष्ट्र ट्रैवल्स  के सामने बस से कुछ यात्री उतरते नजर आए। पता चला कि यह बस मध्यप्रदेश से यात्रियों को लेकर पहुंची है। इसी तरह डालडा फैक्टरी चौक पर भी एक बस से चंद्रपुर के कुछ यात्री पहुंचे थे। इन यात्रियों से प्रति व्यक्ति भाड़ा 500 रुपए वसूला गया, जबकि आम दिनों में यह भाड़ा 200 रुपए लिया जाता है।