दैनिक भास्कर हिंदी: उम्मीदवारों ने पेश किया चुनावी खर्च का डाटा, नागपुर में भाजपा व कांग्रेस खर्च में आगे

April 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर व रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के सभी उम्मीदवारों ने जिला निर्वाचन कार्यालय में चुनावी खर्च का डाटा पेश किया। उम्मीदवारों द्वारा दिए गए खर्चे को क्राॅस चेक किया जा रहा है। सभी उम्मीदवारों की सभा चुनाव आयोग के कैमरे में कैद है और उम्मीदवारों द्वारा दिए गए खर्चे आकलन, मूल्यांकन व खर्चे का बजट वीडियो रिकॉर्डिंग देखकर किया जा रहा है।

गलत जानकारी पर स्पष्टीकरण जरूरी
नागपुर से भाजपा, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी समेत 30 प्रत्याशी मैदान में हैं। सभी 30 उम्मीदवारों ने जिला निर्वाचन कार्यालय में चुनावी खर्च का ब्योरा पेश किया है। जिला निर्वाचन कार्यालय के सूत्रों ने किस उम्मीदवार ने कितना खर्च किया, इसकी जानकारी तो नहीं दी, लेकिन इतना जरूर बताया कि सभी उम्मीदवारों ने 70 लाख की तय सीमा के अंदर ही चुनाव में खर्च किया। फिलहाल यहां जमा किए गए खर्च को क्राॅस चेक किया जा रहा है। क्राॅस चेक (प्रतिपरीक्षण) के दौरान पेश किया गया खर्च ज्यादा दिखाई देता है, तो संबंधित उम्मीदवार से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

30 अप्रैल तक चलेगा काम
इसी तरह रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से किस्मत आजमा रहे सभी 16 उम्मीदवारों ने चुनावी खर्च पेश किया। इसका क्राॅस चेक (प्रतिपरीक्षण) हो रहा है। यह काम 30 अप्रैल तक चल सकता है। जिला निर्वाचन कार्यालय ने उम्मीदवारों के खर्चे का ब्योरा नहीं दिया, लेकिन नागपुर में खर्च के नजरिए से अन्य उम्मीदवारों के मुकाबले भाजपा व कांग्रेस आगे होने की जानकारी दी। रामटेक में अन्य उम्मीदवारों के मुकाबले शिवसेना व कांग्रेस चुनावी खर्चे में आगे है। 

खर्च पेश नहीं करने पर होती है एफआईआर
चुनाव आयोग के निर्देशानुसार, उम्मीदवार को वोटिंग के दिन (11 अप्रैल) तक तीन बार चुनावी खर्च का ब्योरा पेश करना था। खर्च का ब्योरा पेश नहीं करने पर संबंधित उम्मीदवार के खिलाफ एफआईआर होती है। नागपुर व रामटेक में सभी उम्मीदवारों ने खर्च का डाटा पेश करने से यहां उम्मीदवारों पर एफआईआर करने का सवाल ही नहीं है।