दैनिक भास्कर हिंदी: एट्रोसिटी एक्ट पर जांच के बाद ही होगी कार्रवाई, कलेक्टर ने किया आश्वस्त

October 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, सीधी। फरियादी की लिखित शिकायत पर पुलिस द्वारा जांच किये बिना पत्रकार आशीष तिवारी के विरुद्ध दर्ज किये गये एक्ट्रोसिटी एक्ट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।  सपाक्स संगठन के सैकड़ों पदाधिकारी कलेक्टर कार्यालय पहुंचे जिन्होंने ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले की जांच कराये जाने एवं फर्जी  प्रकरण को समाप्त किये जाने की मांग की । सपाक्स द्वारा सौंपे गए ज्ञापन  पर कलेक्टर दिलीप कुमार ने कहा कि जिले में किसी भी निर्दोष व्यक्ति के खिलाफ एक्ट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज नहीं किया जायेगा। ताकि उक्त एक्ट का दुरुपयोग न हो।

होगी निष्पक्ष जांच
कलेक्टर ने सपाक्स संगठन के पदाधिकारियों को आश्वासन दिया कि जब तक निष्पक्ष जांच नहीं होती तब तक गिरफ्तारी नहीं होगी। सपाक्स संगठन ने कलेक्टर से पत्रकार आशीष तिवारी के 1 सितम्बर 2018 के मोबाइल लोकेशन की जांच कराने व ग्राम कनकटी की शासकीय भूमि 586 के संबंध में तहसीलदार रामपुर नैकिन के प्रतिवेदन का अवलोकन करने की मांग की।

सपाक्स करेगा विरोध
सपाक्स संगठन के जिला अध्यक्ष एड. उदयकमल मिश्रा ने कहा कि जिले में एक्ट्रोसिटी एक्ट के तहत किसी भी निर्दोष व्यक्ति के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया जाता है तो संगठन उसका पुरजोर विरोध करेगा। उन्होंने कहा कि पत्रकार आशीष तिवारी के विरुद्ध दर्ज किया गया प्रकरण पूरी तरह से झूंठा व मनगढ़ंत है। जिससे आशीष तिवारी का दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है।कलेक्टर दिलीप कुमार ने कहा कि जिले में किसी भी निर्दोष व्यक्ति के खिलाफ एक्ट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज नहीं किया जायेगा। ज्ञापन सौंपने के दौरान सपाक्स संगठन के जिलाध्यक्ष एड. उदय कमल मिश्रा, राकेश चतुर्वेदी, विनयधर द्विवेदी, अखिलेश पाण्डेय, अमित सिंह, संजीव मिश्रा, कनिष्क तिवारी, रमाराम पाण्डेय, अजय पाण्डेय, हरिश्चन्द्र मिश्रा, एड. महेन्द्र शुक्ला, कमलनारायण द्विवेदी, रावेन्द्र गौतम,राजेश द्विवेदी, एपीदास, एसके गुरू, शिशिर मिश्रा, अनिल गुप्ता, श्रवण द्विवेदी, नागेन्द्र तिवारी, रावेन्द्र द्विवेदी, दीपक तिवारी, शैलेन्द्र द्विवेदी,कार्तिका नन्द सोनी आदि सैकड़ों सपाक्स संगठन के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

 

खबरें और भी हैं...