जवान भी आरोपी: पुलिस निरीक्षक समेत 4 के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज

January 13th, 2022

डिजिटल डेस्क, अमरावती। एक किशोरी पर दुष्कर्म किए जाने के आरोप में 50 वर्षीय व्यक्ति को वलगांव थाने में लाया गया था। आरोपी ने वलगांव थाने में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इस मामले की जांच सीआईडी द्वारा पूरी होने के बाद वलगांव थाने में दर्ज की गई शिकायत के आधार पर तत्कालीन थानेदार गोरखनाथ जाधव  और दो जवानों के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रवृत्त करने का मामला दर्ज किया गया है। जानकारी के मुताबिक 24 सितंबर 2021 को वलगांव थाना क्षेत्र में रहनेवाली एक किशोरी के परिजनों ने थाने में दर्ज की शिकायत में आरोप किया था कि आष्टि ग्राम निवासी अरुण बाबाराव जवंजाल (50) नामक व्यक्ति ने किशोरी पर दुष्कर्म किया है। शिकायत के आधार पर पुलिस उसी दिन अरुण जवंजाल को कब्जे में लेकर वलगांव थाना ले आई थी।  थाने में लाने के बाद इस आरोपी ने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।
इस घटना से पुलिस महकमे में हडकंप मच गया था। 
सीआईडी के अधिकारी व जिला न्यायामूर्ति के मौजूदगी में पुलिस ने घटनास्थल का पंचनामा कर मामले की जांच शुरु की थी। यह जांच सीआईडी द्वारा की जा रही थी। आखिरकार जांच पूरी होने के बाद मंगलवार की रात सीआईडी की उपअधीक्षक दिप्ति ब्राम्हणे द्वारा दर्ज की गई शिकायत के आधार पर तत्कालीन थानेदार गोरखनाथ रामनाथ जाधव, पुलिस जवान सागर गोगटे और रामकृष्ण चांगोले के खिलाफ धारा 306, 330, 34 तथा जाधव व गोगटे के खिलाफ धारा 3 (2) (6) के तहत अतिरिक्त मामला दर्ज किया गया है। िशकायत में यह भी कहा गया है कि तत्कालीन थानेदार और उनके जवानों ने आत्महत्या करनेवाले अरुण जवंजाल को घटना की कबूली के लिए दबाव डाला और उसे बेरहमी से पीटा। इसी के डर के कारण उसने थाने में फांसी लगा ली।