comScore

नागपुर में चालान का टारगेट पूरा करने प्रोटोकॉल से हो रहा खिलवाड़

नागपुर में चालान का टारगेट पूरा करने प्रोटोकॉल से हो रहा खिलवाड़

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में कोरोना का संक्रमण अभी जारी है। इसके बावजूद शहर की यातायात पुलिस लक्ष्य पूरा करने लिए सोशल डिस्टेंस को ताक पर रख कर वाहनों के दस्तावेजों की जांच कर रही है। अनेक चौराहों पर यातायात पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों को झुंड बनाकर कार्रवाई करते देखा जा सकता है। नागरिकों से उनके वाहनों के स्मार्टकार्ड लेने के बाद बिना सैनिटाइज किए स्वाइप कर वापस दिए जा रहे हैं। इस पर नागरिकों ने आपत्ति जताई है। यातायात पुलिस प्रतिदिन 1000 से अधिक वाहनों के चालान बना रही है। पुलिस ने दावा किया था कि कार्रवाई के दौरान सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाने वाली पुलिस खुद नियमों को ताक पर रख रही है। कर्मचारियों का कहना है कि वह खुद पब्लिक के संपर्क में नहीं आना चाहते हैं, लेकिन अधिकारियों ने लक्ष्य दे रखा है, जिसे पूरा करना जरूरी है। 

करोड़ों खर्च कर लगाए सीसीटीवी कैमरे  
नागरिकों का विभाग से सवाल है कि जब शहर में करोड़ों रुपए खर्च कर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, तो  इकट्ठा होकर कार्रवाई क्यों की जा रही है। शनिवार को डागा अस्पताल चौक, मारुति शो-रूम चौक, इंदोरा चौक, कमाल चौक, रहाटे कॉलोनी टी-प्वाइंट, सीए रोड पर गांधी पुतला चौक  में यातायात विभाग के अधिकारी, कर्मचारी इकट्‌ठा होकर कार्रवाई करते नजर आए।

एक सिपाही के पास 25 चालान की जिम्मेदारी
कार्रवाई के दौरान कुछ कर्मचारियों ने मास्क भी नहीं पहने थे, हैंड ग्लब्ज तो दूर की बात है। स्मार्ट कार्ड हाथों में लेकर स्वाइप कर दे रहे थे। ऐसे में कोरोना का संक्रमण फैलने पर कौन जिम्मेदार होगा। एक सिपाही ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि उसके यातायात शाखा परिमंडल के अधिकारी ने रोजाना 25 चालान बनाने का लक्ष्य दिया है। उसे पूरा करने के लिए कहीं पर भी रुकना पड़ता है। लक्ष्य पूरा नहीं करने पर खरी-खोटी सुनना पड़ता है। कई पुलिसवाले नागरिकों के संपर्क में आने से दूर रहना चाहते हैं, पर मजबूरी है कि दूरी नहीं रख सकते हैं।

मास्क, सैनिटाइजर दिए हैं
मैंने विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को मास्क और सैनिटाइजर की बोतलें कई बार दी हैं। उनके पास इसका रिकॉर्ड भी मौजूद है। यातायात पुलिस उसका उपयोग न करे, तो यह उसकी लापरवाही है।  -शैलेश शंखे, पुलिस निरीक्षक, यातायात विभाग

कोई लक्ष्य नहीं दिया गया है
पुलिस कार्रवाई करते समय अगर सावधानी नहीं बरत रही है, तो हम सावधानी बरतेंगे। पुलिस हमेशा राष्ट्रसेवा के लिए तैयार है। यह पुलिस का कर्तव्य है। किसी भी पुलिसकर्मी को लक्ष्य नहीं दिया गया है।  -विक्रम साली, उपायुक्त, यातायात पुलिस विभाग, नागपुर शहर

कमेंट करें
HcsaU