आनलाइन फ्राड: केवाईसी अपडेट करने का झांसा देकर साढ़े सात लाख से ठगा

January 13th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। केवाईसी अपडेट करने का झांसा देकर व्यक्ति को लाखों रुपए से चूना लगाए जाने का मामला उजागर हुआ है।   बजाज नगर थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। साइबर अपराधी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।  लक्ष्मी नगर निवासी (46) व्यक्ति है। मंगलवार की रात साढ़े नौ बजे उसके मोबाइल पर साइबर अपराधी अरविंद चव्हाण का फोन आया था। उसके केवाईसी अपडेट करने का झांसा देकर व्यक्ति के खाते की गोपनीय जानकारी प्राप्त की। इसके बाद उसके बैंक खाते से 7 लाख 43 हजार 849 रुपए किसी और खाते में ऑनलाइन ट्रांसफर किए। पलक झपकते ही इतनी बड़ी रकम िकसी और खाते में ट्रांसफर होने का संदेश मोबाइल पर आते ही व्यक्ति ने संबंधित बैंक और थाने और साइबर विभाग में इसकी शिकायत की। 


नौकरी का झांसा देकर लगाया लाखों का चूना
नौकरी के फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया। लाखों रुपए लेकर महिला का फर्जी साक्षात्कार और मेडिकल कराया गया। इसके बाद भी नौकरी नहीं लगी तो मामला थाने गया। बुधवार को दो लोगों के खिलाफ िगट्टीखदान थाने में प्रकरण दर्ज िकया गया है। आरोपियों की िगरफ्तारी होना बाकी है। दशरथ नगर निवासी शिकायतकर्ता कैटरिंग व्यापारी मनोज सत्यदेव राऊत (37) है। उसकी मानी हुई बहन बेरोजगार है। पहले वह िकसी स्कूल में अस्थायी शिक्षिका थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते उसकी नौकरी चली गई। इस कारण वह नई नौकरी की तलाश में थी। इस बीच स्वप्निल मेश्राम नामक मित्र के जरिए आरोपी आशीष माेरेश्वर राजनकर गोपाल नगर निवासी से मनोज की पहचान हो गई। आशीष ने अपने दूसरे आरोपी साथी शर्मा से पहचान कराई। दोनों ने मनोज की मानी हुई बहन को एफसीआई बतौर प्रबंधक की नौकरी दिलाने का वादा िकया। इसके बाद आरोपी शिकायतकर्ता की बहन को दिल्ली ले गए। वहां पर लगभग एक सप्ताह तक उसे एक होटल में रुकाया। वहीं पर उसका साक्षात्कार लिया गया।