दैनिक भास्कर हिंदी: नया रायपुर अब अटल नगर के नाम से जाना जाएगा : सीएम रमन सिंह

August 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, रायपुर। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं। देशभर की पवित्र नदियों में उनकी अस्थियां विसर्जित की जा रही हैं। पूरा देश अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। इस बीच विभिन्न राज्य की सरकारें भी अटल जी के सम्मान में शहरों और स्टेशनों के नाम उनके नाम पर करने जा रही हैं। मंगलवार को छ्त्तीसगढ़ सीएम रमन सिंह ने अटल जी को श्रद्धांजलि के रूप में कई घोषणाएं की हैं। उन्होंने कहा है कि अब से नया रायपुर अटल नगर के नाम से जाना जाएगा। इसके साथ ही बिलासपुर यूनिवर्सिटी अब अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी व नेरोगैज लाइन अब अटल पथ के नाम से जानी जाएगी।

 


रमन सिंह ने कुछ और जगहों के भी नाम अटल जी के नाम पर करने का ऐलान किया है। इनमें राजधानी के कलेक्टोरेट के सामने बन रहे सेंट्रल पार्क का नाम अटल पार्क और राजनंद मेडिकल कॉलेज का नाम भी अटल जी के नाम पर करने का ऐलान शामिल है। सीएम ने एक पुलिस बटालियन का नाम भी पोखरण बटालियन करने का एलान किया है। गौरतलब है कि अटलजी के प्रधानमंत्री रहते ही पोखरण में भारत ने सफलता पूर्वक न्यूक्लियर टेस्ट किए थे।

 


बता दें कि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने भी पिछले दिनों अटल जी को श्रद्धांजलि के रूप में कुछ घोषणाएं की थी। इनमें विदिशा मेडिकल कॉलेज का नाम और भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदल कर वाजपेयी जी के नाम पर करने की बात कही गई थी। इसके साथ ही प्रदेश में 4 जगह बनाये जा रहे श्रमोदय विद्यालय का नाम भी अटल जी के नाम पर करने का ऐलान किया गया था।

सीएम शिवराज ने यह भी कहा था कि अटल जी की जन्मस्थली ग्वालियर के गोरखी स्कूल को उच्च स्तरीय बनाया जाएगा और वहां म्यूजियम भी बनेगा। संग्राहलय में अटल जी की प्रतिमा लगाई जाएगी और उन्हीं के नाम पर लाईब्रेरी बनाई जाएगी। सीएम ने कहा था, 'भोपाल और ग्वालियर में अटल जी के स्मृति वन बनाए जाएंगे, जिसके लिए सरकार जमीन तलाश रही है। भोपाल में बन रहे ग्लोबल पार्क को अटल जी का नाम दिया जाएगा। अटल जी के नाम पर युवा पीढ़ी के लिए शोध केंद्र बनाए जाएंगे। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, सतना, उज्जैन और सागर में लाइब्रेरी खोली जाएंगी। एमपी में अब 3 पुरस्कार अटल जी के नाम पर दिए जाएंगे। कवि, पत्रकार, सुशासन में अच्छा काम करने वाले को हर साल 5 लाख का पुरस्कार दिया जाएगा।'