दैनिक भास्कर हिंदी: छिंदवाड़ा: कर्ज माफी की शर्तों में किसान को उलझा रही सरकार, भाजपा ने किया प्रदर्शन

January 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए मंगलवार को भाजपा नेता सड़क पर नजर आए। कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया और कर्ज माफी, भावांतर, बिजली बिल हाफ करने सहित अन्य मांगों को लेकर राज्य पाल के नाम एक ज्ञापन सौंपा।

प्रदेश सरकार के खिलाफ लगाए नारे-
जिला भाजपा कार्यालय में इक_ा होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे भाजपा नेता व कार्यकर्ता ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेताओं ने कहा कि सीएम कमलनाथ किसानों से वादाखिलाफी कर रहे हैं। भाजपा नेताओं ने कहा कि कर्ज माफी की घोषणा को शर्तों में उलझाया जा रहा है। भावांतर को बंद कर किसानों से उनका हक छीना जा रहा है। उन्होंने 800 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर की राशि देने की मांग रखी।

बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित-
इससे पहले जिला भाजपा कार्यालय में बैठक भी हुई जिसे भाजपा के प्रदेश मंत्री कन्हईराम रघुवंशी सहित अन्य नेताओं ने संबोधित किया। किसान मोर्चा की अगुवाई में दिए ज्ञापन के दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष नरेंद्र परमार, ठाकुर दौलत सिंह, रमेश पोफली, किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष संजय सक्सेना, महामंत्री संजय पटेल, पूर्व विधायक ताराचंद बावरिया, महापौर कांता सदारंग, धर्मेंद्र मिगलानी सहित जिला भाजपा के तमाम पदाधिकारी व बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ज्ञापन में 11 बिंदुओं पर मांग रखी-
- सभी किसानों को 2 लाख रुपए तक कर्ज माफी का लाभ दिया जाए।  प्रक्रिया से शर्तों को हटाया जाए।
-भावांतर की राशि अविलंब किसानों के खातों में जमा कराई जाए। कांग्रेस की घोषणा के मुताबिक 300 रुपए बोनस शामिल कर 800 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान किया जाए।
- कर्ज माफी के लिए किसानों से फार्म भरवाने की जटिल प्रक्रिया लागू की गई है। इससे कर्ज माफी में अनावश्यक देरी की जा रही है।
- वचन पत्र के मुताबिक किसानों के कृषि प्रयोजन के लिए उपयोग की जाने वाली बिजली के बिल आधा किए की बात कही गई थी, जिससे तत्काल पूरा किया जाए।
- डूब क्षेत्र के प्रभावित किसानों को भू अर्जन के मुआवजे की शेष 70 फीसदी राशि के भुगतान की घोषणा की गइ्र्र थी। जिसे तत्काल किसानों को दिया जाए।
- पाले से फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कराकर प्रति एकड़ 12 हजार रुपए के हिसाब से मुआवजा राशि दी जाए।

कानून व्यवस्था को लेकर फूंका पुतला-
भाजपा ने प्रदेश व जिले में बिगड़ रही कानून व्यवस्था के खिलाफ मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला फूंका। जिला भाजपा कार्यालय से भाजपा किसान मोर्चा ज्ञापन लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचता, इससे पहले ही कुछ भाजपा नेता पुतला लेकर कलेक्ट्रेट गेट पर पहुंच गए। यहां पुतला जलाकर बिगड़ी कानून व्यवस्था की खिलाफत की।