• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Chief Minister Arvind Kejriwal says Delhi government to form special task force to protect children from 3rd wave

दैनिक भास्कर हिंदी: बच्चों का बचाने की तैयारी: CM केजरीवाल बोले- तीसरी लहर के लिए तैयार करेंगे स्पेशल टास्क फोर्स

May 19th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली में एक उच्च स्तरीय बैठक की है। बैठक में कोरोना की तीसरी लहर को कैसे रोका जाए, ज्यादा से ज्यादा बच्चों को कैसे बचाया जाए उसपर चर्चा हुई। कोरोना के नए वैरिएंट्स ने दिल्ली सरकार की चिंताए बढ़ा दी। केजरीवाल ने विशेष टास्क फोर्स का गठन करने की बात कही हैं।

अधिकारियों ने एक अनुमानित आंकलन के अनुसार बताया कि तीसरी लहर के दौरान करीब 40 हजार बेड्स की जरूरत पड़ सकती है। इसके लिए पहले से ही तैयार रहना होगा। इन 40 हजार बेड्स में से करीब 10 हजार आईसीयू बेड्स होने चाहिए। बैठक में इस बात पर विचार किया गया कि तीसरी लहर के दौरान दिल्ली में अधिकतम कितने केस आने की संभावना है। उसके लिए कितने बेड की आवश्यकता पड़ेगी।

बैठक में निर्णय लिया गया कि संभावित तीसरी लहर को लेकर एक विशेष टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। इस टास्क फोर्स में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के अलावा अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञ भी शामिल होंगे। यह टास्क फोर्स बच्चों के उपर कोरोना का क्या असर होगा, उस प्रभाव को कैसे कम किया जा सकेगा और बच्चों को इससे कैसे बचाया जा सकेगा, समेत अन्य पहलुओं पर गौर करेगी और उसके मुताबिक उचित निर्णय लेगी।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर हम बड़े पैमाने पर बेड्स बढ़ाएंगे, तो उसके लिए हमें बड़े मात्रा में ऑक्सीजन की भी जरूरत पड़ेगी। इसके लिए भी हमें तैयार रहना होगा, ताकि एकाएक ऑक्सीजन की मांग बढ़ जाती है, तो उसको पूरा किया जा सके। बैठक में निर्णय लिया गया कि इसके लिए दिल्ली सरकार पहले से ही ऑक्सीजन के टैंकर खरीद कर रखेगी और बड़ी संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर भी खरीदे जाएंगे, ताकि अलग-अलग अस्पतालों में ऑक्सीजन पहुंचाने में कोई समस्या न आए।

सीएम ने यह भी निर्देश दिए कि विभिन्न अस्पतालों में जो ऑक्सीजन के प्लांट लगाए जा रहे हैं, उनको भी समय पर पूरा किया जाए और ऑक्सीजन के भंडारण की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए, ताकि अगर ऑक्सीजन की जरूरत पड़े, तो उस दौरान भगदड़ की स्थिति न पैदा हो। दिल्ली सरकार के मुताबिक दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना की मौजूदा दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर के भी आने की संभावना जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि तीसरी लहर का प्रभाव बच्चों पर भी पड़ सकता है।

टास्क फोर्स का काम
इस विशेष टास्क फोर्स का मुख्य काम कोरोना का प्रभाव बच्चों पर किस तरह से पड़ रहा है, इसका असर कैसा है, प्रभाव को कम कैसे किया जाए, बच्चों को कैसे बचाया जाए। इन सभी पहलू पर काम करेगा। इस टास्क फोर्स में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल किए जाएंगे।

कालाबाजारी पर लगेगी रोक
बैठक में ऑक्सीजन की कमी और उसकी उपलब्धता पर विस्तार से चर्चा हुई। जिसमें यह निर्णय लिया गया कि ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर रोक लगानी होगी। इसके लिए विशेष टीम तैयार की जाएगी। राज्य में दवाइयों और ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए। ऑक्सीजन की पूर्ति हो सके ताकि मरीजों को सही समय पर ऑक्सीजन और दवाइयां मिल जाए। इस बार ऑक्सीजन की कालाबाजारी को लेकर सख्त रूख अख्तियार करेंगी दिल्ली सरकार।

कैसे पूरा करेगी ऑक्सीजन की उपलब्धता
बैठक में इस बात पर निर्णय लिया गया हैं कि सरकार पहले से ही भारी मात्रा में ऑक्सीजन टैंकर और सिलेंडर खरीद कर रख लेगी। ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे ताकि जब जरुरत पड़े तो लोगों में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न न हो।

खबरें और भी हैं...