गुजरात: मुख्यमंत्री बनने से फिर चूके नितिन पटेल, भावुक होकर बोले- किसी से कोई गिला-शिकवा नहीं, पार्टी ने बहुत कुछ दिया है

September 13th, 2021

डिजिटल डेस्क, गांधीनगर। गुजरात के नए मुख्यमंत्री की रेस में सबसे आगे चल रहे उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता नितिन पटेल एक बार फिर चूक गए। पार्टी हाईकमान ने नितिन की जगह भूपेंद्र पटेल के हाथों में गुजरात की कमान सौंपी है। खबर है कि नितिन पार्टी के फैसले से नाराज हैं। आज (सोमवार) राज्य के मनोनीत मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने अहमदाबाद में उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता नितिन पटेल से मुलाकात की। भूपेंद्र पटेल आज दोपहर में गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

 

इस मुलाकात के बाद मीडिया से मुखातिब हुए नितिन पटेल ने नम आंखों और दबी आवाज के साथ कहा, नए मुख्यमंत्री नहीं चुने जाने पर मैं बिल्कुल नाराज़ नहीं हूं। मैं 18 साल से जन संघ से लेकर आज तक बीजेपी का कार्यकर्ता हूं और रहूंगा..कोई जगह मिले या नहीं, बो बड़ी बात नहीं है लोगों का प्रेम और सम्मान मिले वही बड़ी बात है। 

नितिन पटेल ने कहा, पार्टी ने मुझे इतना बड़ा स्थान दिया है और इतनी बड़ी जिम्मेदारी से मुझे बड़ा बनाया है तो पार्टी और किसी को भी मेरी जरूरत होगी तो मैं उनके लिए हमेशा तैयार रहूंगा। इंसान काम करके लोगों का दिल जीतकर ही बड़ा बन सकता है। भूपेंद्र पटेल मेरे पुराने मित्र हैं। उन्हें सीएम के रूप में शपथ लेते देखकर हमें खुशी होगी। नितिन पटेल ने कहा कि मुझे पार्टी ने पिछले 30 साल में काफी कुछ दिया है, वह नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में रहे, बाद में आनंदी बेन की कैबिनेट में रहे और फिर विजय रुपाणी के दौर में वह उपमुख्यमंत्री रहे।

गौरतलब है कि गुजरात में साल 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। उससे पहले ही बीजेपी ने अपना मुख्यमंत्री बदल लिया है और पटेल समुदाय के भूपेंद्र पटेल को मौका दिया गया है। नितिन पटेल का नाम इस बार भी मुख्यमंत्री बनने की रेस में था, जब आनंदी बेन पटेल को हटाया गया था तब भी नितिन पटेल का नाम सबसे आगे थे, लेकिन विजय रुपाणी को मौका मिला था।

 


 

खबरें और भी हैं...