दैनिक भास्कर हिंदी: देखो फिर न हो अमृतसर जैसी घटना, ट्रैक किनारे आयोजनों पर रखो नजर : CSC अधिकारी

October 28th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। देखो फिर अमृतसर जैसी घटना फिर घटित न हो। इसके लिए अधिकारी रेल ट्रैक के किनारे होने वाले मेलों एवं आयोजनों पर नजर रखें। इसके साथ ही राजनीतिक गतिविधियों पर सतर्कता बरतें। रेल अपराधों पर सख्ती से रोकथम के लिए शासकीय रेल पुलिस यानि जीआरपी से सामंजस्य स्थापित करते हुए कार्य करें। पश्चिम मध्य रेलवे के चीफ सिक्योरिटी कमिश्नर एवं महानिरीक्षक RPF एएन मिश्रा ने पमरे के तीनों रेल मंडलों के सभी RPF पोस्ट प्रभारियों की बैठक में उक्त निर्देश दिए हैं।

सीएससी श्री मिश्र ने अमृतसर जैसी घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें मिलकर पमरे में इस तरह की घटना घटित न हो, इसके लिए प्रयास करना होगा, इसके लिए सभी अधिकारी, निरीक्षक अपने-अपने क्षेत्र में हमेशा नजर बनाए रखें कि उनके रेल क्षेत्र में मेला, उर्स व राजनीतिक गतिविधियां यदि हो रही हैं तो वहां पर उपस्थित भीड़ का आंकलन करते हुए किसी भी तरह के रेल हादसे को रोकने के लिए पर्याप्त बल व व्यवस्थां सुनिश्चित करें।

अनुशासनहीनता, लापरवाही, भ्रष्टाचार बिलकुल बर्दाश्त नहीं
पमरे के नवागत सीएससी द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में पमरे के सभी RPF पोस्ट प्रभारी, निरीक्षक, कार्यालय एवं मुख्यालय में पदस्त निरीक्षक भंडार, मीडिया सविलांस, यात्री सुरक्षा, अपराध खुफिया शाखा एवं विशेष खुफिया शाखा के निरीक्षकों के इस सम्मेलन में परिचय प्राप्त किया। इस बैठक में उप मुख्य सुरक्षा आयुक्त विजय खातरकर, मंडल सुरक्षा आयुक्त अनिल भालेराव, 3 सहायक सुरक्षा आयुक्त, 55 निरीक्षक व 3 उप निरीक्षक मौजूद रहे. बैठक में नवागत सीएससी श्री मिश्रा ने परिचय प्राप्त करने के बाद अपना एजेंडा स्पष्ट करते हुए हिदायत दी कि गई कि कत्र्तव्य पालन में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं भ्रष्टाचार किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी, इस तरह की गतिविधियों में यदि किसी भी स्तर पर सक्रियता, संलिप्तता पाई योगी ते संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी।

बैठक के दौरान मिश्र ने निरीक्षकों से कहा कि वे अपने-अपने कार्यक्षेत्र में पडऩे वाले अपराधिक क्षेत्रों तथा अपराध प्रभावित गाडिय़ों को चिन्हित करते हुए स्टेशन, स्टेशन परिसर एवं यात्री गाडिय़ों में होने वाली चोरी, लूट, डकैती एवं जहरखुरानी की घटनाओं पर जीआरपी के साथ समन्वय स्थापित कर प्रभावी रूप से अंकुश लगाएं, साथ ही मानवता को दृष्टिगत रखते हुए जरूरतमंद असहाय, बालकों, वृद्धों, महिलाओं एवं दिव्यांगों के विरुद्ध होने वाले अपराधों के मामले में रेल सुरक्षा बल हेल्पलाइन 182 से प्राप्त सूचनाओं को प्राथमिकता के साथ सुरक्षा व सहयोग उपलब्ध कराएं। इसके अलावा श्री मिश्र ने निर्देशित किया कि रेल अधिनियम के अंतर्गत सतत् अभियान चलाकर टिकट कालाबाजारी, अनाधिकृत वेंडिंग पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाएं।