comScore

5038 गड्ढे पाटने का दावा खोखला,जानलेवा साबित हो रहे  

5038 गड्ढे पाटने का दावा खोखला,जानलेवा साबित हो रहे  

डिजिटल डेस्क, नागपुर ।  मनपा ने हाल में आठ माह में शहर के 5 हजार 38 गड्ढे बुझाने का दावा किया है। करीब 94 हजार 240 वर्ग फीट परिसर में इन गड्ढों को पाटनेे का दावा है। जिस पर करोड़ों रुपए खर्च किए गए हैं, लेकिन शहर में स्थिति देखकर इन दावों पर सवाल उठ रहे हैं। शहर के बड़े हिस्सों में जगह-जगह गड्डे आसानी से दिखाई दे रहे हैं। बारिश ने स्थिति और खराब कर दी है। वाहन चालकों के लिए जानलेवा साबित हो रहे यह गड्ढे आर्थिक नुकसान भी पहुंचा रहे हैं।

कपिल नगर के बुधवारी बाजार की मुख्य सड़क से गुजरते समय सैम्युअल अन्वीकर की मोटरसाइकिल पानी से भरे गड्ढे की चपेट में आकर अनियंत्रित हो गई और वे गिर पड़े। उनका मोबाइल भी पानी में जा गिरा। घटना 9 सितंबर को दोपहर करीब 12.15 बजे की है। मोबाइल को ढूंढने के लिए दोनों ओर से वाहनों की आवाजाही को रोक दिया गया। मोबाइल सैम्युअल के हाथ लगा, लेकिन पानी में गिरने से बंद हो गया। सैम्युअल ने बताया कि, हाल ही में उसने 15 हजार रुपए में यह मोबाइल खरीदा था।

सड़क बनानी है, पर मनपा के पास फंड नहीं
नारी गांव से गुरुनानक फार्मेसी कॉलेज तक की पूरी सड़क क्षतिग्रस्त है। सड़क नये सिरे से तैयार करने की आवश्यकता है। फिलहाल मनपा के पास फंड नहीं है। उप-विभागीय अभियंता को सड़क के गड्ढे पाटने के निर्देश दिए हैं। जल्द ही इस सड़क के गड्ढे भर दिए जाएंगे।  -गणेश राठोड़, अभियंता, आशी नगर जोन, मनपा

कमेंट करें
0SL1Z