comScore

महाराष्ट्र : स्कूलों के अनुदान को लेकर शिवसेना विधायक और शिक्षामंत्री के बीच नोकझोंक

November 23rd, 2018 00:38 IST
महाराष्ट्र : स्कूलों के अनुदान को लेकर शिवसेना विधायक और शिक्षामंत्री के बीच नोकझोंक

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के गैर अनुदानित स्कूलों को अनुदान देने और शिक्षकों की समस्याओं को लेकर विधान परिषद में शिवसेना की सदस्य मनीषा कायंदे और प्रदेश के शिक्षा मंत्री विनोद तावडे के बीच नोक झोंक देखने को मिला। गुरुवार को सदन में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जरिए कायंदे ने कहा कि पिछले चार से पांच सालों से शिक्षक वेतन के लिए मुंबई के आजाद मैदान पर बैठकर आंदोलन कर रहे हैं।

ऐसा कहा जाता है कि शिक्षकों को स्कूल की कक्षाओं में रहना चाहिए। लेकिन शिक्षक क्लास में नहीं बल्कि आजाद मैदान में आंदोलन के लिए बैठे रहते हैं। उन स्कूलों के विद्यार्थी क्या पढ़ाई कर पाते होंगे। शिक्षा की ऐसी दुर्दशा पहले कभी देखने को नहीं मिला। शिक्षकों की समस्याएं जटिल होती जा रही हैं, लेकिन ऐसा लग रहा है कि शिक्षा मंत्री कोई फैसला लेना ही नहीं चाहते हैं। उन्हें बताना चाहिए कि आखिर स्कूलों को अनुदान कब मिलेगा।

5.5 लाख में सिर्फ 1200 कर रहे आंदोलन
इससे जवाब में प्रदेश के शिक्षा मंत्री विनोद तावडे ने कहा कि कायंदे सदन में नई सदस्य हैं। नए सदस्य होने के कारण उन्हें समझ में नहीं आता होगा। सदन में नया आने के कारण समझने में थोड़ा समय लगता है। तावडे ने कहा कि राज्य में 5 लाख 36 हजार शिक्षक स्कूलों में पढ़ाते हैं। उसमें से 1200 से 1300 शिक्षक वेतन के लिए आंदोलन कर रहे हैं। ये लोग अपने स्कूल को छोड़कर आंदोलन कैसे करते हैं। इसकी जांच कायंदे को करनी चाहिए।

कायंदे को ऐसा लग रहा है कि राज्य के सभी शिक्षक आंदोलन कर रहे हैं। तावडे ने कहा कि गैर अनुदानित स्कूलों के अनुदान समेत अन्य मुद्दों पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अध्यक्षता मंि बैठक बुलाई जाएगी। मैंने इस बात की घोषणा सदन में की है। शायद कायंदे ने यह बात नहीं सुनी। इससे पहले तावडे ने मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक बुलाने की जानकारी दी तो सदन में तालिका सभापति दत्तात्रय सावंत ने बैठक सदन के सभापति रामराजे निंबालकर के कैबिन में बुलाने का निर्देश दिया। इस पर तावडे ने कहा कि बैठक मुख्यमंत्री के कैबिन में ही होगी।

कमेंट करें
XVFeH