दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र के तीन स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय का राष्ट्रीय पुरस्कार

September 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने महाराष्ट्र की तीन स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। इनमें लातुर की दो और हिंगोली जिले की एक स्कूल शामिल है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता ही सेवा अभियान के हिस्से के तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से मंगलवार को देशभर की कुल 52 स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। पुरस्कार पाने वाली स्कूलों में 37 ग्रामीण क्षेत्र की और शहरी क्षेत्र की 15 स्कूल शामिल है। महाराष्ट्र की लातुर जिले की जिन दो सरकारी स्कूलों को पुरस्कृत किया गया, उनमें निलंगा और रेणापुर स्थित लड़कियों की निवासी स्कूल शामिल है।

स्वच्छता के सभी मापदंडों को पूरा करने के लिए पुरस्कृत किए गए स्कूलों के मुख्याध्यापक क्रमश: दत्तात्रेय मुख्यम और जमादार तथा सामाजिक न्याय विभाग के आयुक्त मिलींद शंभरकर ने पुरस्कार स्वीकार किया। इस मौके पर लातुर जिले को इन दो पुरस्कारों के अलावा विशेष पुरस्कार से भी नवाजा गया। यह पुरस्कार जिलाधिकारी जी श्रीकांत ने स्वीकार किया।

वहीं हिंगोली जिले के गोटीवाडी स्थित पोस्ट बेसिक आश्रम स्कूल को स्वच्छता के सभी मापदंडों को पूरा करने के लिए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार दिया गया। पुरस्कार आदिवासी विभाग के प्रकल्प निदेशक डॉ विशाल राठोड, मुख्याध्यापक साहेबराव आवचर और छात्रों ने स्वीकार किया। पुरस्कार के रुप में प्रमाणपत्र और 50,000 रुपये की नकद राशि दी गई। इस मौके पर पेयजल और स्वच्छता विभाग के सचिव परमेश्वरन अय्यर, केन्द्रीय शिक्षा विभाग की सचिव रिना रे, सहसचिव मनिष गर्ग, CBSE की अध्यक्ष अनिता करवाल मौजूद थे।