दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम ने ‘वैष्णव जन ’ की धुन पर निकाली पदयात्रा, बापू के पद चिन्हों पर चलेगी भाजपा

October 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर जहां  वर्धा में कांग्रेसियों का जमावड़ा है वहीं शहर में सरकार और भाजपाई  बापू की जयंती मनाने पदयात्रा करने सड़कों पर उतरे। वर्धा में व्यस्त मीडिया का पदयात्रा के माध्यम से अपनी ओर ध्यान खिंचा। इस दौरान सरकार और भाजपाईयों ने महात्मा गांधी के पद चिन्हों पर चलने का प्रण लिया। इसमें मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी पीछे नहीं रहे। अपने विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र, दक्षिण-पश्चिम नागपुर में लगभग 5 किलो मीटर की पदयात्रा कर शहरवासियों को स्वच्छता का संदेश दिया।

ये भी नेता हुए शामिल
पदयात्रा में पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, महापौर नंदा जिचकार, सत्तापक्ष नेता व महाराष्ट्र लघु उद्योग विकास मंडल के अध्यक्ष संदीप जोशी सहित सभी विधायक शामिल हुए। पदयात्रा में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। खासकर पदयात्रा में भजन मंडली और महात्मा गांधी की वेशभूषा में शामिल हुए कलाकार सर्जेराव जलपत और सॉफ्टवेयर इंजिनियर निशांत मिश्रा मुख्य आकर्षण थे। पदयात्रा के दौरान मुख्यमंत्री और भजन मंडली ने ‘वैष्णव जन को’ भजन प्रस्तुत किया।

इन मुख्य मार्गों से गुजरी पदयात्रा
पश्चिम नागपुर के गजानन नगर सभागृह से शुरु हुई पदयात्रा प्रियंकावाडी, रिंग रोड क्रास, छत्रपति हॉल, जनता हाइस्कूल गल्ली, रिंग रोड प्रगति कॉलोनी, तांबे हॉस्पिटल, वर्धा रोड, साई मंदिर, गजानन मंदिर, बौद्ध विहार, देवनगर, नेहरूनगर, कसबेकर चौक, नरगुंदकर, राजयोग, वर्धा रोड, हल्दीराम, अमर एन्क्लेव, वृंदावन, गजानन नगर में समापन हुई। पदयात्रा के दौरान नागरिकों को स्वच्छता ही सेवा का संदेश देते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणीस ने कहा कि भारत की आजादी की लड़ाई में सामान्य व्यक्ति को जोड़ने का महत्वपूर्ण कार्य महात्मा गांधी ने किया। स्वच्छता, ग्रामविकास क्षेत्र में काम कर नई भारत का मॉडल गांधीजी ने दिया।

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के निमित्त गांधी के तत्व सामान्य जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि स्वच्छता सेवा कार्यक्रम देश भर में बड़े पैमाने पर चल रहा है। गांधीजी के तत्वों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार काम कर रही है। देश में स्वच्छता अभियान बड़े पैमाने पर सफल हुआ है। 1947 से 2014 तक राज्य में 50 लाख शौचालय थे। केवल तीन साल में राज्य में 60 लाख शौचालय बनाए गए। जिस कारण राज्य को खुले में शौच मुक्त कर स्वच्छता की ओर अग्रसर बढ़ रहा है। पदयात्रा के माध्यम से स्वच्छता का संदेश पहुंचाने का प्रयास शुरू है। यह पदयात्रा राज्य में अलग-अलग गांव, शहर में और विविध चरणों में शुरू रहेगी। पदयात्रा में विधायक व शहर अध्यक्ष सुधाकर कोहले, गिरीश व्यास, प्रा. अनिल सोले सहित अन्य जनप्रतिनिधि, भाजपा पदाधिकारी व अन्य शामिल हुए। 

खबरें और भी हैं...