दैनिक भास्कर हिंदी: अस्पताल की खराब हालत देख कलेक्टर का माथा ठनका, फिर हुआ ये बवाल

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, सिवनी। नए कलेक्टर गोपालचंद्र डाड के पहली बार जिला अस्पताल पहुंचने पर एक बार फिर अव्यवस्था उजागर हुई। गुरुवार को अस्पताल पहुंचे तो हकीकत सामने आई। उन्होंने अस्पताल का कोना-कोना देखा जहां पर कोई भी व्यवस्था ठीक नहीं मिली। कहीं एसी बंद तो कहीं कई उपकरण एक सप्ताह से बंद मिले। यह देखकर कलेक्टर का माथ ठनक गया। उन्होंने सिविल सर्जन डॉ पुष्पा तेकाम से कई सवाल पूछे जो वे जवाब देने की बजाए संचालनालय पर ठीकरा फोड़ती रहीं।

कलेक्टर ने साफ तौर पर कहा दिया कि आप झूठ न बोले। मरीजों को सभी सुविधाएं मिलनी चाहिए जो कि उनका हक है। औचक निरीक्षण में साफ-सफाई खस्ताहाल मिली। ओपीडी में केवल 3 डॉक्टर नजर आए, जबकि शेष नदारत थे। आईसीयू में उपकरण बंद पाए गए। इसी तरह बाकी वार्डों में खिड़की, वेंटीलेटर बंद होने से साफ हवा का आभाव पाया गया। बिजली बंद होने पर बैकअप जनरेटर आदि भी चालू नहीं पाए गए। पूरे चिकित्सालय में एक भी गार्ड उपस्थित नहीं मिला। कलेक्टर ने एक सप्ताह के भीतर तमाम व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए।