comScore

नागपुर में कालेजों की नहीं बढ़ेगी फीस, नामांकन भी नहीं होगा रद्द

नागपुर में कालेजों की नहीं बढ़ेगी फीस, नामांकन भी नहीं होगा रद्द

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय (यूनिवर्सिटी) व इससे संबद्ध महाविद्यालयों में पढ़ रहे साढ़े तीन लाख से ज्यादा विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी है। विश्वविद्यालय के किसी भी विभाग या संबद्ध कॉलेज में शैक्षणिक सत्र 2020-21 की फीस नहीं बढ़ेगी। यहीं नहीं, यदि कोई विद्यार्थी किसी ठोस वजह से फीस नहीं भर सकेगा, तो भी उसका नामांकन रद्द नहीं होगा। इस बाबत विश्वविद्यालय से संबंधित सभी महाविद्यालयों को निर्देश जारी होने जा रहा है।

नागपुर यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (नुटा) के उपाध्यक्ष डॉ. नितीन कोंगरे और सह-सचिव डाॅ. अजित जाचक ने मई में कुलगुरु को इस बाबत पत्र लिखा था। मांग उठाई थी कि कोरोना संक्रमण से बिगड़े आर्थिक हालात के कारण किसी प्रकार की फीस नहीं बढ़नी चाहिए। मांग मंजूर होने पर डॉ. कोंगरे ने कहा है कि इस फैसले की जानकारी विद्यार्थियों तक पहुंचे, इसके लिए विश्वविद्यालय प्रत्येक कॉलेज को यह निर्देश करेगा।

लॉकडाउन का व्यापक असर
मार्च से लागू हुए लॉकडाउन के कारण विविध क्षेत्रों पर व्यापक असर पड़ा। कई रोजगार बंद हुए और लोगों काे आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा। नागपुर विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में गोंदिया, भंडारा, वर्धा जैसे क्षेत्र के कई सामान्य परिवारों के बच्चे पढ़ते हैं। इन्हें फीस से राहत देने की मांग विविध वर्गों की ओर से उठाई जा रही थी। इसी को अमलीजामा पहनाने में नागपुर यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन ने मदद की है।

फीस नहीं बढ़ाने का दिया था प्रस्ताव
कोरोना संक्रमण को लेकर हालात अच्छे नहीं थे। हमलोगों ने फीस नहीं बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था। इस पर मैनेजमेंट काउंसिल ने मुहर लगा दी है। इससे सीधे तौर पर साढ़े तीन लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को फायदा होगा। -डॉ. नितीन कोंगरे, सदस्य, मैनेजमेंट काउंसिल, नागपुर यूनिवर्सिटी

कमेंट करें
r290y