दैनिक भास्कर हिंदी: थलसेना के लिए खुफिया जानकारी जुटा रहे थे कर्नल पुरोहित

January 6th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  साल 2008 के मालेगांव बम धमाका मामले के आरोपी कर्नल प्रसाद पुरोहित थल सेना के लिए खुफिया जानकारी जुटा रहे थे। इसलिए वे इस मामले से जुड़े साजिशकर्ताओं की बैठक में शामिल हुए थे।   पुरोहित की वकील नीला गोखले ने बांबे हाईकोर्ट में यह दावा किया। हाईकोर्ट में पुरोहित की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई चल रही है। याचिका में पुरोहित ने खुद के खिलाफ दर्ज किए गए मामले को रद्द करने की मांग की है। 

पुरोहित की वकील नीला गोखले ने न्यायमूर्ति एसएस शिंदे की खंडपीठ के सामने कहा कि मेरे मुवक्किल थल सेने के लिए खुफिया सूचनाएं जुटा रहे थे। इसलिए वे इस धमाके को लेकर होनेवाली गुप्त बैठकों में शामिल होते थे। ताकि वे जरुरी जानकारी सेना तक पहुंचा सके। इस संबंध में उन्होंने थल सेना के कई दस्तावेजों का भी हवाला दिया। मेरे मुवक्किल से जानकारी के लिए मुंबई पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त रहे हिमांशु राय ने भी संपर्क किया था। मेरे मुवक्किल देश की सुरक्षा को लेकर अपनी ड्युटी कर रहे थे। लेकिन इसके लिए मेरे मुवक्किल को जेल में डाल दिया गया। इसलिए इस मामले में मेरे मुवक्किल के खिलाफ मुकदमा चलाने से पहले सेना से जरुरी मंजूरी लेनी चाहिए थी। खंडपीठ ने फिलहाल मामले की सुनवाई 2 फरवरी 2021 तक के लिए स्थगित कर दी है।