दैनिक भास्कर हिंदी: मिहान में कंपनियों का ‘वर्क फ्रॉम होम’ पर जोर

August 29th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोविड-19 ने मिहान पर भी असर डाला है। अधिकांश कंपनियां सरकारी आदेशानुसार सीमित स्टाफ के साथ काम कर रही हैं या वर्क फ्रॉम होम पर शिफ्ट हो गई हैं। हालांकि फार्मा की कंपनियों में 50 फीसदी स्टाफ की मौजूदगी देखी जा रही है। इससे कंपनियां रफ्तार नहीं पकड़ पा रही हैं।

कहां कितना स्टाफ काम पर
मल्टी-मॉडल इंटरनेशनल कार्गो हब एंड एयरपोर्ट एट नागपुर (मिहान) में मेडिकल सेक्टर में यदि एम्स की बात करें तो लगभग सभी काम कर रहे है, वहीं फाॅर्मास्युटिकल कंपनी लूपिन में 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम चल रहा है। उनको पूरे स्टाफ के साथ काम करने की अनुमति है, लेकिन सोशल दूरी और लेबर की कमी के कारण ऐसा किया जा रहा है। डेसोल्ट रिलायंस एयरोस्पेस लिमिडेट (डीआरएएल) ने सीमित कर्मचारियों के साथ अप्रैल से काम शुरू कर दिया था। एयर इंडिया एमआरओ और टाल मंे 15 फीसदी कर्मचारी काम कर रहे हैं। इसके अलावा मिहान स्थित सेंट्रल फेसिलिटी बिल्डिंग (सीएफबी) में स्थित कार्यालय सीमिति स्टाफ के साथ शुरू हैं। महाराष्ट्र एयरपोर्ट डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (एमएडीसी) की डब्ल्यू बिल्डिंग स्थित कार्यालय में भी 15 फीसदी स्टाफ के साथ काम किया जा रहा है।

हो रहा है फायदा
आईटी कंपनियों में एचसीएल, हेक्सावेयर, इनफोसिस जैसी सभी कंपनियां हैं, जिनका स्टाफ ‘वर्क फ्रॉम होम’ पर काम कर रहा है। इससे कंपनियों को बहुत फायदा हो रहा है। एक ओर कार्यालय में होने वाला खर्च खत्म हो गया है, तो दूसरी ओर सबके मैनेजमेंट की समस्या भी टल गई है। सभी को पहले टारगेट दे दिया जाता है और फिर रिपोर्ट मांग कर उसमें सुधार करने की जानकारी दे दी जाती है।