comScore

लापरवाह ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की खैर नहीं, अब सीधे कॉल सेंटर में होगी शिकायत

लापरवाह ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की खैर नहीं, अब सीधे कॉल सेंटर में होगी शिकायत

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लापरवाह व मनमानी करने वाले ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की अब खैर नहीं है क्योंकि शहर में अब स्वतंत्र कॉल सेंटर शुरू हुए हैं। चौराहों  से नदारद रहने या कर्तव्य में कोताही बरतते देख अब आम नागरिक भी उनकी सीधी शिकायत कर सकते हैं। यह शिकायत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों तक तत्काल पहुंच जाएगी और संबंधित ट्रैफिक पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए नागपुर में स्वतंत्र कॉल सेंटर भी शुरू किया गया है। 

अदालत ने फटकार लगाई थी
उच्च न्यायालय मुंबई खंडपीठ नागपुर में दाखिल एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान अदालत ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाने के साथ ही कार्य में कोताही बरतने वाले ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने व ट्रैफिक से जुड़ी अन्य शिकायतों के लिए ट्रैफिक कॉल सेंटर शुरू करने का आदेश दिया था। 20 मार्च को जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान अदालत ने पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को आदेश दिया था, जिसके चलते यातायात पुलिस विभाग ने स्वतंत्र कॉल सेंटर नागपुर में शुरू कर दिया है। इस कॉल सेंटर में आम नागरिक फोन कर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के कार्य नहीं करने या संबंधित चौक पर पीक अवर्स में मौजूद नहीं रहने पर फोन कर शिकायत कर सकेंगे। 

यह बात आई सामने
पीक अवर्स सुबह 9 से 11 बजे तक रहेगा।  नॉन-पीक अवर्स का समय शाम 5 से  7 बजे तक रहता है। नागपुर शहर में सड़कों पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए व रास्ता सुरक्षा कानून के क्रियान्वयन के संबंधत में उच्च न्यायालय, मुंबई, खंडपीठ नागपुर में जनहित याचिका  क्रमांक 07/2019 दाखिल की गई थी। इस जनहित याचिका पर सुनवाई में बात सामने आई कि नागपुर शहर यातायात पुलिस विभाग द्वारा नियुक्त किए गए ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी चौराहों पर नहीं रहते हैं और कर्तव्य में कोताही बरतते हैं। इसके साथ ही उनकी अन्य शिकायतें नागरिक कर सकें, इसके लिए स्वतंत्र कॉल सेन्टर बनाने का आदेश दिया था।

और तब शुरू हुआ स्वतंत्र कॉल सेंटर
इस आदेश के बाद यातायात पुलिस विभाग ने पुलिस नियंत्रण कक्ष में स्वतंत्र  कॉल सेंटर शुरू कर दिया है। नागपुर शहर में 161 ट्रैफिक सिगनल लगाए गए हैं। इसमें से 87 ट्रैफिक सिग्नल चौक में पीक अवर्स में 154 कर्मचारी तथा नॉन-पीक अवर्स में 111 कर्मचारियों को यातायात नियमन व नियंत्रण के लिए तैनात किया है। ट्रैफिक  सिग्नल पर तैनात किए गए पुलिस कर्मियों की सूची अदालत में दी गई। इस सूची के अंतर्गत एमआईडीसी ट्रैफिक जोन में 3, सोनेगांव में 14, सीताबर्डी में 21, सदर में 10, कॉटन मार्केट में 9, अजनी में 24 और लकड़गंज में 7 पीक अवर्स स्थान होने की जानकारी दी गई है। 

शिकायत करने पर होगी कार्रवाई
नागरिकों द्वारा शिकायत करने पर तत्काल पुलिस  नियंत्रण कक्ष, नागपुर शहर ट्रैफिक चैनल से संबंधित यातायात परिमंडल शाखा व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक को वायरलेस विभाग द्वारा जानकारी  दी जाएगी।  संबंधित प्रभारी पुलिस निरीक्षक तुरंत स्वयं या अपने अधीनस्थ अधिकारी को भेजकर  नागरिकाें की शिकायत की जांच-पड़ताल करेंगे। शिकायत सही निकलने पर  संबंधित  यातायात कर्मचारी पर कार्रवाई कर शिकायत का निवारण किया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस कर्मियों में  गुणात्मक फर्क हो, इसके लिए यातायात शाखा के पुलिस उपायुक्त गजानन राजमाने ने नागरिकों से आह्वान किया है कि जो ट्रैफिक  पुलिस कर्मचारी अपने कर्तव्य में कोताही बरतते हुए या अपने कर्तव्य का निर्वहन ठीक से नहीं कर रहे हैं, ऐसे ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के बारे में उक्त दूरभाष नंबरों पर शिकायत कर सकते हैं। 

कमेंट करें
EsCqm