दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर-लखनादौन मार्ग बदहाल, ठेकेदार की लापरवाही से बढ़ी मुश्किलें

September 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। जबलपुर से नागपुर मार्ग पर खासतौर से लखनादौन तक का सफर पूरा करना किसी जंग जीतने जैसा है। आलम यह है गड्ढों के बीच सड़क तलाशना पड़ रही है। बेतहाशा दर्द, असहनीय पीड़ा और इनमें गाड़ी चलाने के दौरान पूरे मार्ग में सब्र का इंतेहान भी है। थोड़ी नजर हटी तो मौत से सामना हो सकता है।

जबलपुर से लखनादौन का तकरीबन 82 किलोमीटर का जो सफर डेढ़ से दो घंटे में पूरा हो सकता है उसे पूरा करने में ढाई से तीन घंटों तक का समय लग रहा है। यही नहीं कई मर्तबा हालात तब और बिगड़ जाते हैं जब रोड पर भारी वाहनों का जमावड़ा लगा हो। इसकी मुख्य वजह है ठेका कंपनी एलएण्डटी द्वारा सड़क को मोटरेबल बनाए रखने की व्यवस्था में लापरवाही बरती जाना। मोटरेबल यानि, सड़क निर्माण के दौरान मार्ग को चलने लायक बनाए रखना, जिस ओर कंपनी की अनदेखी का खामियाजा आम नागरिकों को भुगतना पड़ रहा है। 

शर्तों की धज्जियां उड़ा रही ठेका कंपनी-
सड़क निर्माण कर रही किसी भी ठेका कंपनी के लिए पहली शर्त यही होती है कि पूरे निर्माण कार्य के दौरान सड़क पर यातायात सुचारु रखने के लिए रास्ते को चलने लायक बनाए रखे। इनमें सबसे ज्यादा ध्यान इस बात रखना होता है कि वाहन सड़क पर आसानी से चल सकें और जाम की स्थिति निर्मित न हो। लेकिन, जबलपुर-लखनादौन मार्ग की दुदर्शा देखकर यह स्पष्ट है कि निर्माण कर रही ठेका कंपनी बेखौफ होकर शर्तों की धज्जियां उड़ा रही हैं। काम ऐसे किया जा रहा है, जैसे फोर लेन नहीं किसी गांव की कोई गली में सड़क बनाई जा रही हो। ताजुज्जब की बात यह है कि एनएचएआई के अधिकारियों की इस तरह के काम के तरीके में पूरी सहमति लगती है। न तो समय सीमा का कोई ख्याल है ना लोगो को हो रही असुविधा से उनका कोई वास्ता है। बस कभी दिल्ली से प्रगति रिपोर्ट मांगी भी तो मन माफिक ठेका कंपनी के हक में इबारत लिखो और भेज दो। अधिकारी,जनप्रतिनिधि सब ठेका कंपनी की भाषा बोल रहे। सड़क के बदतर हालात से किसी को कोई लेना देना नही हैं।

फैक्ट फाईल-

  • जबलपुर-रीवा-लखनादौन प्रोजेक्ट के तहत हो रहा निर्माण
  • कुल 286 किमी के प्रोजेक्ट में जबलपुर से लखनादौन की दूरी 82 किलोमीटर
  • 2700 करोड़ है पूरे प्राजेक्ट की लागत
  • 640 करोड़ से बन रही जबलपुर-लखनादौन सड़क
  • जून 2015 में शुरु हुआ निर्माण, अब अप्रैल 2019 तक बनाने का दावा

 

खबरें और भी हैं...