दैनिक भास्कर हिंदी: मध्य प्रदेश : कमलनाथ ने सीएम शिवराज को दिया कांग्रेस में आने का न्योता

September 1st, 2018

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हैं, उसी रफ्तार से बीजेपी और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसी क्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और सांसद कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को भी कांग्रेस में शामिल होने का न्योता दे दिया है। बता दें कि शनिवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कमलनाथ ने सीएम शिवराज को यह न्योता दिया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में कमलनाथ से पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को कांग्रेस में शामिल होने का न्योता देने के बारे में सवाल किया गया था। इसी सवाल के जवाब में कमलनाथ ने कहा 'मैं तो शिवराज को भी निमंत्रण देता हूं। बाबूलाल गौर को केवल क्यों।' गौर की तारीफ करते हुए कमलनाथ ने कहा, 'बाबूलाल गौर जी एक सच्चे इंसान हैं, बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं, जिन्होंने सच्चाई स्वीकार की।'

बता दें कि एक दिन पहले ही शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान बाबूलाल गौर ने कमलनाथ की उनके गृहक्षेत्र छिंदवाड़ा के विकास के लिए सराहना की थी। इसके जवाब में कमलनाथ ने कहा, 'गौर ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि वह सच्चाई जानते हैं। बाबूलाल गौर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री थे और मैं केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री। मेरे कार्यकाल में मैंने सबसे ज्यादा धन मध्यप्रदेश को दिया। मैंने मध्यप्रदेश के लिए 4500 करोड़ से अधिक रुपये जारी किए।'

पूर्व केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री कमलनाथ से पूछा गया कि क्या वे आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, 'मैंने तय नहीं किया है कि मैं लडूंगा, क्योंकि मैं सांसद हूं। ये भी चर्चा है कि चुनाव (लोकसभा और विधानसभा) साथ-साथ हों। तो जब इन सब चीजों का फैसला होगा, तब मैं भी फैसला करूंगा।'

एक साथ चुनाव पर अमित शाह की चिट्ठी मजाक नहीं
एक साथ चुनाव और अमित शाह की चिट्ठी पर सवाल किया गया, तो कमलनाथ ने कहा, 'अमित शाह (बीजेपी अध्यक्ष) ने भी इस बारे (एक साथ चुनाव) में विधि आयोग को चिठ्ठी लिखी है, तो कोई मजाक करने के लिए तो नहीं लिखी और किसी छोटे कार्यकर्ता ने भी नहीं लिखी। अमित शाह ने लिखी है। उन्होंने चिठ्ठी लिखी और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला और यह मांग कर रहे हैं तो इससे इसमें गंभीरता दिखती है।'