• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Congress leader Rahul and Priyanka Gandhi Targets Government Over Uttar Pradesh Hospital Oxygen Mock Drill Case

दैनिक भास्कर हिंदी: आगरा मॉक ड्रिल मामले में राहुल गांधी बोले- बीजेपी के शासन में मानवता की कमी, प्रियंका बोली- मोदी कहते हैं मैंने ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी

June 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में पारस अस्पताल में 5 मिनट में 22 मरीजों की मौत की मॉक ड्रिल पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी और योगी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, भाजपा शासन में ऑक्सीजन व मानवता दोनों की भारी कमी है। इस ख़तरनाक अपराध के ज़िम्मेदार सभी लोगों के ख़िलाफ़ तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए। दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।

वहीं प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, PM: “मैंने ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी” CM: "ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं। कमी की अफवाह फैलाने वालों की संपत्ति जब्त होगी।" मंत्री: “मरीजों को जरूरत भर ऑक्सीजन दें। ज्यादा ऑक्सीजन न दें।”आगरा अस्पताल: "ऑक्सीजन खत्म थी। 22 मरीजों की ऑक्सीजन बंद करके मॉकड्रिल की।" ज़िम्मेदार कौन?

वायरल वीडियो में बातचीत:

  • डॉ. अरिंजय: जो भी पेंडुलम बने रहे कि नहीं जाएंगे, नहीं जाएंगे... मैंने कहा कोई नहीं जा रहा है... दिमाग मत लगाओ छोड़ो। अब वो छांटो जिनकी (ऑक्सीजन) बंद हो सकती है।
  • डॉ. के सामने बैठा शख्स: जो बिल्कुल ही डेड लाइन पर हैं। 
  • डॉ. अरिंजय : एक ट्रायल मार दो। मॉक ड्रिल कर के देख लो कि कौन सा मरेगा, कौन सा नहीं मरेगा?
  • डॉ. के सामने बैठा शख्स : सही बात है, सही बात है।
  • डॉ. अरिंजय : मॉक ड्रिल करी। सुबह सात बजे मॉक ड्रिल हुई। किसी को पता नहीं है कि मॉक ड्रिल कराई सुनकर के सबकी, छंट गए 22 मरीज़. नीले पड़ने लगे।
  • डॉ. के सामने बैठा शख्स : 22 मरीज़ छंट गए भाई साहब ?
  • डॉ. अरिंजय: 22 मरीज़ छंट गए कि ये मरेंगे।
  • डॉ. के सामने बैठा शख्स : ओह भाई साहब, कितनी देर के लिये मॉक ड्रिल करी ?
  • डॉ. अरिंजय : पांच मिनट के लिए।
  • डॉ. के सामने बैठा शख्स : पांच मिनट में 22 मरीज़ ? मॉक ड्रिल हुए, हुए।
  • डॉ. अरिंजय : नीले पड़ने लगे, 74 बचे, इन्हें टाइम मिल जाएगा। 
  • डॉ. के सामने बैठ शख्स : सही बात है।
  • डॉ. अरिंजय : फिर 74 से कहा कि अपना सिलेंडर लाओ।

बता दें कि आगरा के पारस हॉस्पिटल के मालिक अरिंजय जैन के सोमवार को 4 वीडियो सामने आए। जिसमें वे कबूल कर रहे हैं कि मरीजों की छंटनी के लिए 26 अप्रैल को सुबह 7 बजे मॉक ड्रिल की गई थी, जिसमें कोरोना संक्रमित मरीजों की ऑक्सीजन सप्लाई रोक दी गई। इस दौरान 22 मरीजों ने 5 मिनट में ही दम तोड़ दिया था। उस समय अस्पताल में 96 मरीज भर्ती थे। डॉ. अरिंजय जैन लोगों से बात करते समय कह रहे हैं कि खुद मुख्यमंत्री भी ऑक्सीजन का इंतजाम नहीं कर सकता। हालांकि, मंगलवार को प्रशासन ने पारस अस्पताल को सीज कर दिया है।

 

खबरें और भी हैं...