comScore

कृषि कानून का विरोध: खेती बचाओ यात्रा में शामिल हुए राहुल गांधी, बोले- कचरे के डब्बे में फेंक देंगे ये काला कानून


हाईलाइट

  • हमारी सरकार बनी तो कच्चे के डब्बे में फेंक देंगे मोदी सरकार का ये काला कानून- राहुल गांधी
  • पंजाब में कृषि कानून के विरोध में निकाली गई रैली में शामिल हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। नए कृषि कानूनों पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का समर्थन करने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार को पंजाब पहुंचे। यहां राहुल कृषि कानून के विरोध में निकाली गई ट्रैक्टर रैली में शामिल हुए। राहुल ने इस दौरान एक किसान जनसभा को भी संबोधित किया। राहुल गांधी ने कहा, मैं इस बात को फिर से दोहराना चाहता हूं कि पंजाब और हरियाणा के किसान एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे और नरेंद्र मोदी की सरकार के खिलाफ, इन क़ानूनों के खिलाफ़ लड़ेंगे और इन्हें हरा कर दिखाएंगे। 

राहुल ने कहा, अंग्रेजों ने देश के किसानों को खत्म किया, रीढ़ की हड्डी को तोड़ा था, इसलिए अंग्रेज़ यहां राज़ कर पाए। वही लक्ष्य मोदी जी का है- किसान की रीढ़ की हड्डी तोड़ो और सबकुछ अडानी, अंबानी जैसे लोगों को सौंप दो। इस व्यवस्था को बदलने की जरूरत है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि कांग्रेस पार्टी हिंदुस्तान के किसान को कभी खत्म नहीं होने देगी। हम आपके साथ खड़े हैं और एक इंच भी पीछे नहीं हटने वाले। इनका लक्ष्य MSP और सार्वजनिक खरीद को खत्म करने का है। ये जानते हैं कि जैसे ही MSP खत्म हुई या सार्वजनिक खरीद की व्यवस्था खत्म हुई तो हिंदुस्तान का किसान खत्म हो जाएगा 

राहुल ने कहा, नरेंद्र मोदी जी इस व्यवस्था को खत्म करना चाहते हैं क्योंकि जब तक ये व्यवस्था रहेगी, तब तक उनके मित्र अडानी और अंबानी जैसे लोग हिंदुस्तान के किसानों का पैसा नहीं ले पाएंगे, उनसे उनकी जमीन नहीं छीन पाएंगे। पंजाब-हरियाणा के किसानों ने देश को खाद्य सुरक्षा दी। भारत की सरकार ने ढांचा बनाया था। उस ढांचे में तीन खंभे थे - MSP, सार्वजनिक खरीद और मंडी व्यवस्था। इन तीन चीजों से हिंदुस्तान को गारंटी पर अनाज मिलता है और वो अनाज पंजाब-हरियाणा देते हैं। सीधा सा रिश्ता है इनका कि नरेंद्र मोदी जी इनके लिए जमीन साफ़ करते हैं और ये मोदी जी को मीडिया में पूरा-पूरा समर्थन देते हैं। 

राहुल ने कहा, नरेंद्र मोदी जी को अडानी और अंबानी चलाते हैं। मोदी जी को अडानी और अंबानी ही जीवन देते हैं, कैसे? मीडिया में 24 घंटे मोदी जी का चेहरा दिखाकर। ये लक्ष्य समझना इतना भी कठिन नहीं कि आपकी जमीन और आपका पैसा हिंदुस्तान के दो तीन सबसे बड़े अरबपति चाहते हैं। ये मोदी सरकार नहीं बल्कि अडानी और अंबानी की सरकार है। नरेंद्र मोदी जी ने पहला काम ये किया कि ये नया कानून हमारे सामने लाकर रख दिया। हम संसद में लड़े और कहा कि हम किसान की जमीन आपको नहीं देंगे। 

राहुल ने कहा, ये मामला आपकी जमीन और पैसे का है। जब भी ये चाहते थे, तो किसानों की जमीन छीन लेते थे। हमने इसका विरोध किया, भूमि अधिग्रहण बिल जैसे काले कानून को बदला और आपकी जमीन की रक्षा की। मार्केट रेट से चार गुना ज्यादा रेट आपको दिलवाया। नोटबंदी की - कहा काला धन मिट जाएगा, जीएसटी लागू की - छोटे व्यपारियों, दुकानदारों, गरीब लोगों को खत्म किया। कोविड आया तो हिंदुस्तान के सबसे बड़े उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया, उनका टैक्स माफ किया, मगर गरीबों, किसानों को कोई मदद नहीं दी। अगर किसान इन कानूनों से खुश हैं तो पूरे देश में किसान आंदोलन क्यों कर रहे हैं? पंजाब का हर किसान आंदोलन कर रहा है। 6 साल से नरेंद्र मोदी जी सिर्फ़ झूठ बोल रहे हैं। 

राहुल ने कहा, जिस परिवार की बेटी को मारा गया उनको अपने घर में बंद कर दिया, डीएम ने उनको धमकाया, मुख्यमंत्री ने धमकाया। आज हालत ये है कि जो अपराध करता है उसके खिलाफ कुछ नहीं होता और जो मारा जाता है, कुचला जाता है, दबाया जाता है उसके खिलाफ कारवाई होती है। किसानों के अधिकारों के लिए पंजाब की पावन भूमि से संघर्ष का आगाज़ हो चुका है। मोदी सरकार के काले कानून किसान के लिए 'डेथ वारंट' हैं। हम इन 'डेथ वारंट' के खिलाफ कड़ा संघर्ष जारी रखेंगे। किसानों के इस संघर्ष में कांग्रेस साथ है, किसानों की हर मांग के साथ एकमत है। किसानों के हक की लड़ाई के लिए पंजाब के बधनी कलां से जट्टपुरा तक ट्रैक्टर रैली आरंभ हो चुकी है। मोदी सरकार के काले-कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का संघर्ष जारी रहेगा। किसानों के अधिकारों की रक्षा के लिए कांग्रेस सदैव किसानों के संघर्ष में साथ है।
 

यहां से गुजरेगी ट्रैक्टर रैली 
4 अक्टूबर: मोगा के निहाल सिंह वाला के बदनी कलां में सुबह 11 बजे एक सार्वजनिक बैठक से रोड शो की शुरुआत होगी। इसके बाद लुधियाना के जगराओं, चकर, लक्खा और माणूके होते हुए रायकोट के जटपुरा में एक जनसभा के साथ ही संपन्न होगा।

5 अक्टूबर: रोड शो की शुरुआत बरनाला चौक, संगरूर में समारोह से होगी। यहां से राहुल जनसभा के लिए भवानीगढ़ तक कार से जाएंगे। फतेहगढ़ छाना और बाहमना में समारोह। पटियाला के समाना की अनाज मंडी में जनसभा में शिरकत करेंगे राहुल गांधी।

6 अक्टूबर : पटियाला के दूधन साधा में होने वाली जनसभा में राहुल गांधी किसानों को संबोधित करेंगे। फिर पिहोवा सीमा से होते हुए कांग्रेस का रोड शो हरियाणा में प्रवेश करेगा।
 

कमेंट करें
FkO5r