दैनिक भास्कर हिंदी: बारिश के बीच भाजपा पर बरसे कमलनाथ, कहा- किसान विरोधी है शिवराज सरकार

February 11th, 2018

डिजिटल डेस्क, पांढुर्ना/छिंदवाड़ा। सुबह बदलते मौसम को देखने के बाद भी मैंने मन नहीं बदला, क्योंकि मैंने यह तय कर लिया था कि चाहे जो भी हो में पांढुर्ना के लव्हाना गांव जरूर जाउंगा। आपके प्यार और आशीर्वाद से मिली शक्ति से ये काले बादल भी मुझे रोक नहीं पाए। रविवार को पांढुर्ना के लव्हाना गांव में सांसद कमलनाथ ने सभा में लोगों से मुखातिब होकर यह बात कही। तेज बारिश के बीच उन्होंने सभा को संबोधित किया। भाजपा पर बरसते हुए कमलनाथ ने कहा कि पिछले 14 वर्षों से राज्य की सत्ता संभालने वाली प्रदेश की ऐसी पहली सरकार है जो किसान विरोधी है। यदि किसानों के लिए इन्होंने कोई योजना बनाई होती तो आज प्रदेश का किसान आत्महत्या के लिए मजबूर नहीं होता।

कमलनाथ ने कहा कि जब पांढुर्ना में संतरा फसलों पर संकट आया था तब उन्होंने सारे नियमों को शिथिल करते हुए उद्यानिकी फसलों का करोड़ों का मुआवजा दिलवाया था। साथ ही संतरा परिवहन एवं कपास के मूल्य निर्धारण की पहले चिंता की थी, लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार को आज किसानों के हितों की चिंता नहीं है। भाजपा गुमराह की राजनीति कर रही है। लोगों को प्रलोभन और झूठे आश्वासन देकर गुमराह करती है।

कमलनाथ ने मोहखेड़ी जलाशय का जिक्र करते हुए कहा कि एक दौर था जब मोहखेड़ी की जमीन पूरी तरह अनउपजाऊ हुआ करती थी, यह योजना क्षेत्र के लिए वरदान बनी। सड़कों के अभाव में लव्हाना का सामाजिक जीवन नगरीय क्षेत्रों से कटा हुआ था परंतु सड़क निर्माण के बाद अब गांव मंजरे टोले बारहमासी सड़कों से जुड़ गए हैं। जिससे न केवल व्यापार व्यवसाय बढ़ा है बल्कि सामाजिक रिश्तों में भी मजबूती आई है।

जनसभा में जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगाप्रसाद तिवारी, दीपक सक्सेना, विश्वनाथओकटे, डा. साहेबराव टोन्पे, गोविंद राय, रामकृष्ण माटे, विश्वास कांबे, विजय चौधरी, पर्यवेक्षक संजय निकाजू समेत अन्य नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

 

कार्यकर्ता मना करते रहे फिर भी उतारा हैलीकॉप्टर
खराब मौसम के बाद भी पांढुर्ना के लव्हाना पहुंचे कमलनाथ का हैलीकॉप्टर देख कार्यकर्ता हाथों से इशारा कर हैलीकॉप्टर न उतारने का संकेत देते रहे। फिर भी हैलीकॉप्टर उतरा तो लव्हाना के ग्रामीण तेज बारिश में कमलनाथ को हैलीकॉप्टर से न उतरने का कहते रहे। बताया जा रहा है कि भीगते हुए कमलनाथ मंच तक पहुंचे। सभा में बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।